Monday , December 11 2017

तारीफ़ की भूखी BJP सरकार चाहती है “फ़र्ज़ी” एनकाउंटर का श्रेय

भोपाल: एक तरफ़ जहां कल हुए सिमी के 8 कथित सदस्यों के एनकाउंटर पर ही सवाल खड़े हो गए हैं, दूसरी तरफ़ मध्य-प्रदेश सरकार चाहती है कि उनकी तारीफ़ की जाए. कुसुम मेह्दाले जो मध्य प्रदेश में जेल मंत्री हैं, का कहना है कि आरोपियों के भाग निकलने के बावजूद उनको मार गिराया गया और ये तारीफ़ के क़ाबिल काम है.

देश की लगभग सभी विपक्षी पार्टियां एनकाउंटर को लेकर सरकार को घेरने में लग गयी हैं मध्य प्रदेश की बीजेपी सरकार विवादित एनकाउंटर का भी श्रेय लेने में लग गयी है.

प्राइवेट चैनल ndtv से बातचीत करते हुए कुसुम ने कहा कि कुछ कमियाँ रह गयी होंगी लेकिन हमारी तारीफ़ करनी चाहिए.

मारे गए आठों सदस्य प्रतिबंधित संगठन सिमी के सदस्य बताये जा रहे हैं. इन सभी पर देशद्रोह के आरोप चल रहे थे लेकिन इनमें से कोई भी अभी तक गुनाहगार साबित नहीं हुआ था.

पुलिस के का दावा बिलकुल वैसा है जैसे कोई बॉलीवुड फ़िल्म, उनका कहना है कि इन लोगों ने 30 फ़ीट ऊंची दीवार चादरों की रस्सी बनाकर फांद ली, इसके अतिरिक्त जब उनका एनकाउंटर हुआ तो आठों आरोपी ब्रांडेड कपड़े और जूते पहने थे. एनकाउंटर के दो विडियो भी सोशल मीडिया पर आ गए हैं जिससे पूरे एनकाउंटर पर सवालिया निशान खड़े हो गए हैं.

एनकाउंटर की जांच नेशनल इन्वेस्टीगेशन एजेंसी को सौंपी गयी है.

गौरतलब है कि कल देर रात भोपाल सेंट्रल जेल से 8 क़ैदी फ़रार हो गए थे. ये सभी आतंकवाद के गंभीर इलज़ाम में बंद थे लेकिन इनमें से किसी पर भी आरोप साबित नहीं हुआ था. मध्यप्रदेश सरकार के मुताबिक़ ये लोग चादर की रस्सी बनाकर 30 फ़ीट दीवार फांदे थे और भागते वक़्त इन्होने एक हेड-कांस्टेबल रमाशंकर की भी हत्या कर दी थी. इसके कुछ देर बाद ख़बर आती है कि आठों फ़रार क़ैदियों का एनकाउंटर हो गया. इसके बाद सोशल मीडिया पर वीडियो आये जिनसे ये ज़ाहिर हो रहा है कि एनकाउंटर फ़र्ज़ी और पहले से नियोजित था.

TOPPOPULARRECENT