Monday , December 18 2017

तालिबान अब अफ़्ग़ान इक़तिदार पर इजारादारी के तलबगार नहीं

तालिबान के नुमाइंदों का कहना है कि वो माबाद लड़ाई अफ़्ग़ानिस्तान में इक़तिदार पर इजारादारी के ख़ाहां नहीं हैं। वो ये भी कहते हैं कि ख़वातीन को आज़ादीयां हासिल होंगी जिन को कभी ख़ुद तालिबान ने ज़ालिमाना अंदाज़ में कुचल रखा था अस्

तालिबान के नुमाइंदों का कहना है कि वो माबाद लड़ाई अफ़्ग़ानिस्तान में इक़तिदार पर इजारादारी के ख़ाहां नहीं हैं। वो ये भी कहते हैं कि ख़वातीन को आज़ादीयां हासिल होंगी जिन को कभी ख़ुद तालिबान ने ज़ालिमाना अंदाज़ में कुचल रखा था अस्करी ग्रुप ने कहा कि मुस्तक़बिल का दस्तूर तमाम अफ़्ग़ानों के शहरी और सयासी हुक़ूक़ की हिफ़ाज़त

करेगा, और ज़ोर दिया कि तालिबान की कोशिश इक़तिदार पर इजारादारी क़ायम करना नहीं है और लड़कीयों-ओ-ख़वातीन को तालीम के लिए स्कूल-ओ-कॉलेज जाने और मुलाज़मत करने की इजाज़त रहेगी।

TOPPOPULARRECENT