तालिबान और अफ़्ग़ान नुमाइंदों की ग़ैर रस्मी मुलाक़ात

तालिबान और अफ़्ग़ान नुमाइंदों की ग़ैर रस्मी मुलाक़ात
Click for full image

अफ़्ग़ान ओहदेदार और अफ़्ग़ान तालिबान के नुमाइंदे पाकिस्तान में होने वाले एक ग़ैर रस्मी इजलास में शिरकत करेंगे। इस मुलाक़ात का मक़सद उस वसीअतर मुफ़ाहमती अमल का आग़ाज़ करना है, जिसे बैनुल अक्वामी और इलाक़ाई ताक़तों की हिमायत हासिल है।

जर्मन न्यूज़ एजैंसी डी पी ए ने दो खु़फ़ीया ज़राए का हवाला देते हुए लिखा है कि गुज़िश्ता मौसमे गर्मा में नाकाम होने वाले अमन मुज़ाकरात के बाद अफ़्ग़ान हुक्काम और तालिबान के नुमाइंदों के माबैन ये पहली बराहे रास्त मुलाक़ात होगी।

ज़राए के मुताबिक़ ये मुलाक़ात आइन्दा चंद रोज़ में पाकिस्तानी दारुल हुकूमत इस्लामाबाद में होगी। पाकिस्तानी वज़ारते ख़ारजा के एक अहलकार का नाम ज़ाहिर ना करने की शर्त पर कहना था, अभी तक कोई तारीख़ तो मुक़र्रर नहीं की गई लेकिन ये मुलाक़ात दो से तीन रोज़ में होने जा रही है।

ये मुलाक़ात अफ़्ग़ान अमन अमल के लिए सरगर्म चहार फ्रीकी ग्रुप के काबुल में होने वाले हालिया इजलास के बाद होने जा रही है। इस ग्रुप में अमरीका, चीन, पाकिस्तान औरअफ़्ग़ानिस्तान शामिल हैं। ये चारों ममालिक अफ़्ग़ान तालिबान पर अफ़्ग़ान हुकूमत के साथ बराहे रास्त मुज़ाकरात करने के लिए ज़ोर देते आए हैं।

Top Stories