Monday , June 25 2018

तालिबान का नाटो फ़िज़ाई अड्डे पर ख़ुदकुश हमला 7 हलाक

तालिबान ने अफ़्ग़ानसितन अर सिटी पोर्ट पर नाटो फ़ौजी अड्डे को निशाना बनाते हुए ख़ुदकुश हमला किया, जिस के नतीजे में पाँच अफ़्ग़ान गार्ड के बशमोल 7 हलाक और कई बेरूनी सिपाही ज़ख़मी होगए ।

तालिबान ने अफ़्ग़ानसितन अर सिटी पोर्ट पर नाटो फ़ौजी अड्डे को निशाना बनाते हुए ख़ुदकुश हमला किया, जिस के नतीजे में पाँच अफ़्ग़ान गार्ड के बशमोल 7 हलाक और कई बेरूनी सिपाही ज़ख़मी होगए ।

ओहदेदारों ने ये बात बताई । नाटो हेलीकाप्टरस ने उस वक़्त बाग़ियों पर फायरिंग की जब वो एक कार को जलालाबाद एर पोर्ट की इबतिदाई गेट के क़रीब बम धमाका से उड़ाने की कोशिश कर रहे थे ।

ये कार ग्रेनेड दागे़ जाने वाले राकेट ,मार्टर और छोटे आतिश असलाह से लैस थी । तालिबान ने दावे किया है कि उन के आदमी पाकिस्तान की मशरिक़ी सरहद के क़रीब वाक़ये एर पोर्ट में घुस गए थे लेकिन नाटो की इंटरनैशनल सेक्रेटरी अससटनस फ़ोर्स ( एसाफ़) ने उस की तरदीद की है ।

एसाफ़ के तर्जुमान ने ए एफ़ पी को बताया कि बाग़ियों बशमोल ख़ुदकुश बमबारों ने जलालाबाद फ़िज़ाई अड्डे की इबतिदाई बाब
उल दखिले पर हमला किया , उन्हों ने आज सुबह ये कार्रवाई की । कोई भी हमला आवर इस गेट को पार करने में कामयाब नहीं हुआ ।

उन्हों ने इस बात की भी तौसीक़ की कि हेलीकाप्टरस के ज़रीये हमला आवरों के ख़िलाफ़ जवाबी कार्रवाई की गई । उन्हों ने कहा कि एसाफ़ फ़ोरसीज़ की एक बड़ी तादाद इस हमले में ज़ख़मी होगई ताहम उन्हों ने तादाद बताने से इन्कर करते हुए कहा कि ज़ख़मीयों के बारे में तफ़सीलात का इन्किशाफ़ ना करना एसाफ़ की पालिसी है ।

एय‌रपोर्ट काम्पलेक्स में कई मराहिल पर मुश्तमिल सेक्रेटरी है । तर्जुमान ने कहा कि नाटो ने पहले बाब उल दखिले पर ही मूसिर कार्रवाई करते हुए इस हमले को नाकाम बनादिया जबके अफगान ओहदेदार का कहना है कि तालिबान एय‌रपोर्ट में घुस गए थे ।

सीनीयर अफ़्ग़ान सेक्रेटरी ओहदेदार ने ए एफ़ पी को बताया कि तीन अफ़्ग़ान गार्ड्स‌ हलाक और दुसरे 6 ज़ख़मी होगए जबके इस मुक़ाम से 6 हमला आवरों की लाशें बरामद की गईं ।

उन्होंने कहा कि सब से पहले बाब उल दखिले पर बम धमाका हुआ इस के बाद बाग़ीयों ने बंदूक़ से गोलीयां चलानी शुरू करदी । वो नाटो फ़ोरसीज़ तक नहीं पहुंच सके और पहली-व‌-दूसरी गेट के दरमयान ही उन्हें हलाक कर दिया गया ।

तालिबान ने कहा कि उन के आदमी एय‌रपोर्ट के अंदर पहुंच गए और एक अफ़्ग़ान सरकारी ओहदेदार ने भी एर पोर्ट कामपलकस के अंदर झड़पों की तौसीक़ की है।

TOPPOPULARRECENT