Friday , September 21 2018

तालीम के बगैर इंसान की ज़िंदगी अधूरी

मदहोल 26 मार्च : मदहोल ज़िला परिषद गर्लज़ स्कूल की तालिबात में मर्कज़ी हुकूमत की स्कालर शिपस की तक़सीम-ए-अमल में आई । इस मौके पर प्रकाश बेले गज़ीटेड हेडमास्टर ने ख़िताब करते हुए कहा कि आज के दौर में तालिबात भी तलबाऔ के मुक़ाबिल चल रही हैं हुकूमत भी लड़कियों केलिए अलग‌ तहफ़्फ़ुज़ फ़राहम कर रही है ।

इस मसह बिकती दौर में लड़कियां भी पीछे ना रहें यहां तक कि पुलिस जैसे महिकमा में भी अब लड़कियां काम कर रही हैं इस तरह हुकूमत हर तरह की सहूलत फ़राहम करते हुए दोपहर का खाना , यूनीफार्म , और किताबें मुफ़्त फ़राहम करने के अलावा साला ना स्कालर शिपस भी दे रही हैं ।

इससे इस्तिफ़ादा करते हुए अपने मुस्तक़बिल केलिए मेयारी तालीम हासिल करने का मश्वरा दिया और अपने स्कूल-ओ-वालदैन का नाम रोशन करते हुए इस गँव‌ और मुल्क का नाम रोशन करें । तालीम ही इंसान की ज़ीनत है , तालीम के बगै़र इंसान अधूरा है ,अच्छी ज़िंदगी गुज़ारने केलिए तालीम का होना ज़रूरी है ।

उन्होंने कहा कि तालीम हासिल करने केलिए अपने मुल्क को तो छोड़ दिया और दूर दराज़ का सफ़र कर के तालीम हासिल करने वाले ही लोग ऊंचे मुक़ाम पर फ़ाइज़ हुए इस तरह पण्डित जवाहर लाल नेहरू , गांधी जी ने भी मेयारी तालीम हासिल करने केलिए दूसरे मुल्कों का सफ़र किया और हिंदूस्तान के बड़े लोगों में शुमार हुए उन्ही की तरह मदहोल की तालिबात भी मदहोल केलिए एक मिसाल बनने की ख़ाहिश की ।

इस मौके पर जनाब प्रकाश बेले , जनाब जलील उद्दीन मौज़फ़ पी जी हेडमास्टर जनाब अक़ीलु ल्ज़मां , जनाब शफ़ी उल्लाह ख़ान , जनाब तजम्मुल अहमद इकसी स्कूल करसपानडेन्ट मदहोल , जनाब मुहम्मद इक़बाल अहमद ( सी आर पी ) मदहोल ,जनाब कलीम उद्दीन , जनाब शकील अहमद के हाथों गर्लज़ स्कूल केलिए तालिबात में फी कस एक एक हज़ार रुपये के चेक्स की तक़सीम अमल में आई असातिज़ा तालिबात और औलिया-ए-की कसीर तादाद मौजूद थे ।

TOPPOPULARRECENT