Thursday , November 23 2017
Home / Bihar News / तालीम महकमा में गौर : उर्दू के लिए भी हो सकता है स्पेशल टीइटी

तालीम महकमा में गौर : उर्दू के लिए भी हो सकता है स्पेशल टीइटी

पटना : रियासत में इस साल होनेवाली खुसूसी तालीम अहलियत इम्तिहान (स्पेशल टीइटी) में उर्दू सब्जेक्ट भी शामिल हो सकता है। तालीम महकमा ने इस पर गौर शुरू कर दिया है। हाइ व प्लस टू स्कूलों में जहां मैथ्स, सायंस, अंगरेजी, कॉमर्स सब्जेक्ट में एसटीइटी पास उम्मीदवार नहीं मिलने की वजह से ओहदे खाली रह जा रहे हैं। वहीं, रियासत में प्राइमरी स्कूलों में उर्दू सब्जेक्ट के 26 हजार ओहदे खाली हैं, जबकि उर्दू सब्जेक्ट के टीइटी में 16,882 उम्मीदवार ही पास हैं।

ऐसे में अगर तमाम उम्मीदवार की बहाली हो भी जाती है, तो नौ हजार से ज्यादा ओहदे खाली रह जायेंगे। इसलिए तालीम महकमा जिन सब्जेक्ट के उम्मीदवार नहीं मिल रहे हैं, उन सब्जेक्ट में एसटीइटी तो लेगा ही, उर्दू सब्जेक्ट के लिए भी स्पेशल टीइटी का इन्काद किया जायेगा। इसके लिए मौजूदा में उर्दू असातिजा की चल रही बहाली पूरा होने का इंतजार किया जा रहा है। हालांकि, दिसंबर के आखिर तक ही उर्दू सब्जेक्ट के लिए काउंसेलिंग करा कर तक़र्रुरी ख़त दे देना था, लेकिन महकमा के पास अभी तक तमाम जिलों से तक़र्रुरी ख़त दे दिये जाने का अदाद व शुमार नहीं आ पाया है। काउंसेलिंग में तक़र्रुरी ख़त मिलने के बाद उम्मीदवारों को कुछ वक़्त दिया जाता है, जिसके दौरान वे स्कूल में अपना किरदार अदा कर सकते हैं। उर्दू असातिजा के स्कूलों में अपना किरदार देने का आखरी अदाद व शुमार आने में वक़्त लग सकता है।

रियासत में जिन सब्जेक्ट के उम्मीदवार नहीं मिल रहे हैं, उन सब्जेक्ट का स्पेशल टीइटी लेने का वज़ीरे आला नीतीश कुमार ने तालीम महकमा की बैठक में हिदायत दिया था। इसके बाद महकमा ने बिहार स्कुल इम्तिहान समिति को जनवरी के पहले सप्ताह तक यह वाज़ेह करने को कहा है कि वह कब तक और कैसे स्पेशल टीइटी ले सकते हैं? इस दरमियान महकमा ने तमाम जिलों को पांच से सात जनवरी तक होने वाली बैठक में हाइ व प्लस टू स्कूल में खाली सब्जेक्ट व तबका समेत ओहदे की तादाद लेकर आने को कहा गया है। इस बैठक के बाद ही महकमा यह देखेगा कि जिलावार किस सब्जेक्ट और किस तबके के ओहदे ज्यादा खाली हैं। ऐसे तमाम सब्जेक्ट पर स्पेशल टीइटी लेने का फैसला किया जायेगा।

 

TOPPOPULARRECENT