Monday , December 18 2017

तिहाड़ जेल से रिहा होते ही बोल पड़े श्रीसंत

नई दिल्ली, 12 जून: आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में तिहाड़ जेल से रिहा हुए क्रिकेटर श्रीसंत ने कहा है कि वे जेल में बिताए 27 दिन को वह कभी नहीं भूलेंगे।

नई दिल्ली, 12 जून: आईपीएल स्पॉट फिक्सिंग मामले में तिहाड़ जेल से रिहा हुए क्रिकेटर श्रीसंत ने कहा है कि वे जेल में बिताए 27 दिन को वह कभी नहीं भूलेंगे।

श्रीसंत ने कहा, ‘तिहाड़ जेल में बिताए गए पल बेहद मुश्किल थे। इससे मुझे कई चीजें सीखने को मिली। मैंने हमेशा पूरी ईमानदारी से क्रिकेट खेला है।’

हालांकि उन्होंने दावा किया कि वे पूरी तरह बेगुनाह हैं और वे इसे साबित करके दिखाएंगे।

श्रीसंत ने कहा, ‘उन्हें मुल्क की अदालत यानी इंसाफ के अमल पर पूरा भरोसा है और वे पुलिस की जांच में पूरी मदद करेंगे।’

इससे पहले श्रीसंत को मंगल की रात को तिहाड़ जेल से जमानत पर रिहा कर दिया गया। उनके साथ ही राजस्थान रॉयल्स के एक दूसरे क्रिकेटर अंकित चव्हाण और दिगर 17 बुकी को भी रिहा किया गया।

दिल्ली की एक अदालत ने पीर के दिन श्रीसंत समेत दूसरे 18 मुल्ज़िमो की जमानत मंजूर की थी। कोर्ट ने इन सभी को 50 हजार रुपये के निजी बांड और इतनी ही रकम की एक जमानती की गारंटी पर जमानत मंजूर की थी।

श्रीसंत को चव्हाण और अजीत चंदीला के साथ 16 मई को दिल्ली पुलिस ने मुंबई से आईपीएल में स्पॉट फिक्सिंग के इल्ज़ाम में गिरफ्तार किया था।

TOPPOPULARRECENT