Thursday , July 19 2018

तीन तलाक़ के खिलाफ़ सुप्रीम कोर्ट में याचिका करने वाली सोफिया को योगी सरकार ने बनाया अल्पसंख्यक आयोग का सदस्य

लखनऊ । तीन तलाक़ ट्रिपल के खिलाफ माहौल बनाने वाली महिलाओं को अब इसका पुरस्कार मिलने लगा है। ताजा मामला उत्तर प्रदेश का है, जहां मंगलवार को अल्पसंख्यक आयोग के सदस्यों का ऐलान किया गया तो ऐसा चेहरा भी आयोग में शामिल हुआ जो खुद ना सिर्फ तीन तलाक का पीड़ित रहा है बल्कि उसने सड़क से लेकर सुप्रीम कोर्ट तक लड़ाई भी लड़ी है।

कानपुर की रहने वाली सोफिया अहमद उत्तर प्रदेश अल्पसंख्यक आयोग की सदस्य चुनी गई हैं। सोफिया ने फरवरी 2017 में ट्रिपल तलाक के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था और उस मुस्लिम महिला ग्रुप की सदस्य थी, जो ट्रिपल तलाक के खिलाफ अदालती लड़ाई लड़ रहा था।

अब जबकि सरकार इस बिल को शक्ल देने वाली है ऐसे में तीन तलाक के खिलाफ लड़ने वाली महिलाओं को पुरस्कार मिलने का सिलसिला जारी है। योगी सरकार ने अल्पसंख्यक आयोग के सदस्यों का ऐलान किया है, उसमें सोफिया अहमद का नाम है।

सोफिया अहमद 2016 में बीजेपी की सदस्य बनी थीं और तभी से इस मुद्दे को लेकर मुखर थी। पूर्व एमएलसी मोहम्मद तनवीर हैदर उस्मानी यूपी अल्पसंख्यक आयोग के अध्यक्ष बनाए गए हैं।

सोफिया अहमद के अलावा सुरेश जैन, सुखदर्शन बेदी, मनोज कुमार मसीह, सैयद इकबाल हैदर, मो. असलम और रूमाना सिद्दीकी को आयोग का सदस्य बनाया गया है।

TOPPOPULARRECENT