तीन तलाक इस्लाम में अनुमति लेकिन इसका दुरुपयोग न हो:मौलाना वली रहमानीन

तीन तलाक इस्लाम में अनुमति लेकिन इसका दुरुपयोग न हो:मौलाना वली रहमानीन
Click for full image

नई दिल्ली 16 अक्टूबर: इस्लाम में तीन तलाक की अनुमति है लेकिन इसका दुरुपयोग नहीं होना चाहिए जिसकी वजह से सरकार को इस शरई प्रक्रिया निशाना बनाने का अवसर प्रदान हो रहा है।

राष्ट्रीय राजधानी क्षेत्र से संबंधित इमामों के सम्मेलन में अपने विचार व्यक्त किया गया। इस सम्मेलन में लगभग 500 इमामों किराम ने शिरकत की और तीन तलाक के अलावा ला आयोग की ओर से लगातार सिविल कोड के सिलसिले में सार्वजनिक प्रतिक्रिया प्राप्त करने की कोशिश की जोरदार विरोध किया गया।

आयोग के इस कदम के जवाब में इमामों ने मुस्लिम समुदाय के सदस्यों विशेषकर महिलाओं से हस्ताक्षर प्राप्त करते हुए यह पयाम सरकार तक पहुंचाने का फैसला किया कि उन्हें वर्तमान इस्लामी कानूनों को लेकर कोई आपत्ति नहीं है। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड के सदस्य मुफ्ती एजाज अरशद कासमी ने इस सम्मेलन का आयोजन किया था। बोर्ड के महासचिव मौलाना वली रहमानी ने भी भाग लिया।

बैठक में यह निर्णय लिया गया कि तीन तलाक के हनन से संबंधित शिकायतों का निपटारा होगा। तीन तलाक की इस्लाम में अनुमति है लेकिन इसका दुरुपयोग नहीं होना चाहिए जिसकी वजह से सरकार को हम आलोचना का अवसर प्रदान हो रहा हे.जनरल सचिव पर्सनल लॉ बोर्ड मौलाना वली रहमानी ने इमामों को संबोधित करते हुए कहा कि वह जरूरत पड़ने पर इस मुद्दे पर विरोध के लिए एहतेजाज के लिए ज़हनी तौर पर तैयार रहें।उन्होंने कहा कि यह विरोध शांतिपूर्ण रहेगा।

Top Stories