Thursday , June 21 2018

तीन दिन तक लाइन में लगने के बाद नहीं मिले पैसा तो युवती ने लगाई फांसी

नोटबंदी के चलते एक और महिला के सुसाइड करने का मामला सामने आया है। दिल्ली में एक युवती ने मौत को गले लगा लिया क्योंकि तीन दिन लाइन में लगने के बाद भी वो अपना नोट बदलने नाकामयाब रही।

मामला खजूरी खास थाना क्षेत्र का है। आत्महत्या करने वाली 24 वर्षीय लड़की का नाम रिजवाना है। श्रीराम कलोनी में रहने वाली रिजवाना के भाई का नाम अंसार है। रिजवाना तीन दिन से नोट बदलने के लिए बैंक की लाइन में लग रही थी। लेकिन इसके बावजूद वह अपने नोट नहीं बदल पाई। इस बात से दुखी होकर उसने फांसी लगा ली।

रिजवाना के अंसार ने भी मौत की वजह नोटों पर पाबंदी लगना बताया। अंसार ने कहा कि उसकी बहन को तीन दिन से लाइन में लग रही थी। लेकिन फिर भी उसे पैसा नहीं मिला। बताया जा रहा हैं कि रविवार को जब अंसार काम पर गया हुआ था तब रिजवाना बैंक की लाइन में पैसे बदलवाने गई थी। दो दिन से वह इसी तरह जा रही थी। लेकिन पूरा दिन लाइन में लगने के बाद भी उसके पैसे नहीं बदले गए। उसके बाद तो रविवार को उसने फांसी लगा लिया।

घर वालों ने उसकी लाश पंखे से लटकती हुई मिली। परिवार और इलाके को लोगों में रिजवाना की मौत से काफी दुखी हैं। इस बात को लेकर लोगों में रोष हैं कि सरकार को पहले करेंसी बदलने से पहले पुख्ता इंतेजाम करने चाहिए था और बाद में ये कदम उठाना चाहिए था। फिलहाल रिजवाना का शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया गया है। परिजनों ने उसकी मौत के लिए सरकार के तुगलकी फरमान को जिम्मेदार ठहराया है।

TOPPOPULARRECENT