तीवनस। बाहिजाब ख़ातून को यूनीवर्सिटी में दाख़िला देने से इनकार

तीवनस। बाहिजाब ख़ातून को यूनीवर्सिटी में दाख़िला देने से इनकार

तीवनस। 10 अक्टूबर (राईटर)। तीवनस में एक बाहिजाब ख़ातून को एक यूनीवर्सिटी इंतिज़ामीया की तरफ़ से दाख़िला देने से इनकार करदेने के बाद इस्लाम पसंदों ने ज़बरदस्त मुज़ाहरा किया। क़ौमी दार-उल-हकूमत से 150 केलो मीटर दूर वाक़्य यूनीवर्सिटी आफ़ सा

तीवनस। 10 अक्टूबर (राईटर)। तीवनस में एक बाहिजाब ख़ातून को एक यूनीवर्सिटी इंतिज़ामीया की तरफ़ से दाख़िला देने से इनकार करदेने के बाद इस्लाम पसंदों ने ज़बरदस्त मुज़ाहरा किया। क़ौमी दार-उल-हकूमत से 150 केलो मीटर दूर वाक़्य यूनीवर्सिटी आफ़ साइसी में एक शोबा के सरबराह मुंसिफ़ अबदुलजलील ने बताया कि 200 से ज़ाइद तलबा और दीगर अफ़राद शोबा के बाहर जमा होकर नारे लगाने लगी। वो बाद में दफ़्तर के अंदर घुस गए और कहा कि किसी को सिर्फ हिजाब पहनने की बुनियाद पर दाख़िला देने से इनकार नहीं किया जा सकता। उन्हों ने कहा कि मुज़ाहिरीन ने यूनीवर्सिटी के मोतमिद उमूमी को ज़िद-ओ-कूब भी किया। इस वाक़िया के बाद यूनीवर्सिटी के ओहदेदारों और प्रोफ़ैसरों में ख़ौफ़ पैदा होगया है। औरतों का मुकम्मल हिजाब पहनना तीवनस में हमेशा से बेहस का मौज़ू रहा है। तीवनस में 23 अक्टूबर को इंतिख़ाबात मुक़र्रर हैं और राशिद ग़नोशी की क़ियादत वाली इस्लाम पसंद पार्टी के अक्सरीयत में आने के ज़बरदस्त इमकानात हैं।

Top Stories