Wednesday , December 13 2017

तुर्की के क़रीब दाइई का 60 गांव पर क़ब्ज़ा

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में इंसानी हुक़ूक़ के हाई कमिशनर और तुर्की हुकूमत के मुशतर्का बयान में कहा गया है कि कोबानी की जंग के नतीजा में मज़ीद अफ़राद तुर्की आसकते हैं, इस लिए इमदादी कोशिशों में इज़ाफ़ा किया जा रहा है।

अक़वाम-ए-मुत्तहिदा में इंसानी हुक़ूक़ के हाई कमिशनर और तुर्की हुकूमत के मुशतर्का बयान में कहा गया है कि कोबानी की जंग के नतीजा में मज़ीद अफ़राद तुर्की आसकते हैं, इस लिए इमदादी कोशिशों में इज़ाफ़ा किया जा रहा है।

शामी कारकुनों का कहना है कि इस हफ़्ता जंग शुरू होने के बाद दौलत इस्लामिया के जंगजूओं ने तुर्की की सरहद के क़रीब को बानी के इलाक़ा में 60 से ज़्यादा गांव पर क़ब्ज़ा करलिया है।

बयान में कहा गया है कि तीन साल से जारी शामी शोरिश के दौरान वहां (को बानीमें) लोग निसबतन महफ़ूज़ तौर पर ज़िंदगी बसर कररहे थे और अंदरून-ए-मुल्क 2 लाख पनाह गुज़ीनों को वहां पनाह मिली थी। तुर्की में दाख़िल होने वाले शामी पनाह गुज़ीनों में ज़्यादा तर कुरद हैं।।

TOPPOPULARRECENT