Monday , December 11 2017

तुर्की देगा सीरिया और इराकी के शरणार्थियों को अपने देश की नागरिकता

तुर्की राष्ट्रपति रिसेप तईप एरदोगान ने घोषणा की है कि कुछ सीरियाई और इराकी शरणार्थियों को एक स्क्रीनिंग प्रक्रिया से गुजरने के बाद तुर्की की नागरिकता दी जाएगी। शुक्रवार को देश के टेलीविजन पर प्रसारित हुए अपने एक भाषण में एरदोगान ने कहा है कि सुरक्षा जांच के बाद बताया है जाएगा कि युद्ध की वजह से प्रभावित कितने लोग नागरिकता के पात्र थे।

उन्होंने कहा, “हमारी आंतरिक मंत्रालय इस पर काम कर रही है। मंत्रालय इस बात की जांच कर सुनिश्चत करने में लगी है कि कितनों को नागरिकता दी जा सकती है। ऐसे लोगों की संख्या काफी अधिक है। उन्होंने कहा कि ऐसे लोगों में उच्च शिक्षित लोग भी हैं। इसमें इंजीनियर, वकील, डॉक्टर शामिल हैं। ऐसे प्रतिभाशाली लोग अवैध रूप से इधर-उधर काम करने को मजबूर हैं, हम ऐसे लोगों को एक बच्चे की तरह तुर्की की नागरिका देकर एक मौका देना चाहते है।

एरदोगान इस बात को भी जोड़ा कि आंतरिक मंत्रालय किसी भी समय इसे लागू कर सकती है। लेकिन उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने लोगों को तुर्की की नागरिकता दी जाएगी। तुर्की सरकार के आंकड़ों के मुताबिक, देश तीन लाख से अधिक लोग सीरियाई और इराकी गृह युद्ध की वजह से विस्थापित हुए है, जिनकी मेजबानी तुर्की करने वाला है।

तुर्की नेता पिछली गर्मी में एक समीकरण योजना को रेखांकित किया था, लेकिन उनके इस विचार से कुछ लोग भयभीत हो गए थे और सोशल मीडिया पर इसको लेकर काफी प्रतिक्रियाएं आई थीं। वहीं इस फैसले को विपक्षी पार्टियां एरदोगान के चुनावी हथकंड़ा बता रही है और उनका कहना है कि एरदोगान इसका इस्तेमान आने वक्त में संविधान संशोधन के लिए करना  चाहते हैं।

TOPPOPULARRECENT