Monday , December 18 2017

तूफ़ान लेहर से निमटने के लिए इंतेज़ामीया की सख़्त चौकसी

रियास्ती हुकूमत ने इंतेहाई संगीन तूफ़ान लेहर से निमटने के लिए सख़्त चौकसी इख़तियार करली है जोकि 28 नवंबर की दोपहर साहिल से टकराने की तवक़्क़ो है।

रियास्ती हुकूमत ने इंतेहाई संगीन तूफ़ान लेहर से निमटने के लिए सख़्त चौकसी इख़तियार करली है जोकि 28 नवंबर की दोपहर साहिल से टकराने की तवक़्क़ो है।

ये तूफ़ान ख़लीज बंगाल के जुनूब मशरिक़ से 15 किलो मीटर फ़ी घंटे की रफ़्तार से बढ़ रहा है पिछ्ले 6 घंटों में वो मग़रिबी सिम्त काफ़ी पेशरफ़त कर गया।

सरकारी बुलेटिन में कहा गया है कि इस वक़्त ये साहिली आंध्र में काकीनाडा के मशरिक़ जुनूब मशरिक़ी सिम्त तक़रीबन 920 किलो मीटर दूरी पर है।

उसकी रफ़्तार में इज़ाफे की तवक़्क़ो है और 28 नवंबर की दोपहर ये मछलीपटनम और कलिंगापटनम के माबैन आंध्र का साहिल उबूर कर जाये गा।

इस के असर से 27 नवंबर की दोपहर से शुमाली साहिली आंध्र और जुनूबी साहिली ओडीशा में औसत बारिश होसकती है। चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी ने चीफ़ सेक्रेटरी पी के मोहंती और दुसरे ओहदेदारों के साथ तूफ़ान लेहर से निमटने के लिए इंतेज़ामीया की तैयारी का जायज़ा लिया।

उन्होंने चीफ़ सेक्रेटरी को हिदायत दी कि वो तूफ़ान के ख़तरात से निमटने के लिए मुताल्लिक़ा ओहदेदारान को ज़रूरी हिदायात जारी करें। आज शब रियास्ती सेक्रेटेरिएट मीडीया प्वाईंट पर अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए रियासती कमिशनर महिकमा डीज़ासटर मैनिजमेंट सी पार्था सारथी ने बताया कि तूफ़ान लेहर का कृष्णा, मशरिक़ी-ओ-मग़रिबी गोदावरी और विशाखापटनम पर ज़बरदस्त असर रहेगा।

हंगामी नौईयत के हालात से निमटने के लिए फ़िज़ाईया के चार हेलीकाप्टरस को तैयार रखा गया है। उन्होंने बताया कि रियासती हुकूमत के मर्कज़ी वज़ारत-ए-दिफ़ा से तबादले ख़्याल करते हुए 4 कॉलम्स आर्मी को भी तूफ़ान लेहर की सूरते हाल से निमटने के लिए तलब करलिया जा रहा है और इस आर्मी को विशाखापटनम, राजमुंदरी, काकीनाडा और एल्विरो में ताय्युनात किया जा रहा है और 27 नवंबर से ही साहिली आंध्र अज़ला में नशीबी इलाक़ों में पाए जाने वाले अवाम को महफ़ूज़ मुक़ामात पर मुंतक़िल करने की कार्यवाईयों का 27 नवंबर से आग़ाज़ कर दिया जाएगा और नेशनल डीज़ासटर रेस्पांस फोर्सेस और आर्मी को भी बचाओ काम के लिए तैयार रहने की हिदायत दी गई।

TOPPOPULARRECENT