Wednesday , September 26 2018

तेजपाल पर लगा रेप का चार्ज

सहाफी और तहलका मैगजीन के साबिक एडीटर तरूण तेजपाल के खिलाफ गोवा पुलिस ने पीर के रोज़ मुकामी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। 2700 पन्नों की चार्जशीट में उन पर अपनी खातून साथी से आबरूरेज़ी , जिंसी इस्तेहसाल और बदसुलूकी करने का इल्ज़ाम ल

सहाफी और तहलका मैगजीन के साबिक एडीटर तरूण तेजपाल के खिलाफ गोवा पुलिस ने पीर के रोज़ मुकामी कोर्ट में चार्जशीट दाखिल कर दी है। 2700 पन्नों की चार्जशीट में उन पर अपनी खातून साथी से आबरूरेज़ी , जिंसी इस्तेहसाल और बदसुलूकी करने का इल्ज़ाम लगाया है। अगर कोर्ट में ये इल्ज़ाम साबित हो जाते हैं, तो तेजपाल को सात साल से ज़्यादा की सजा हो सकती है।

जांच आफीसर सुनीता सावंक ने तेजपाल पर दफा 354, 354‍ए (जिंसी इस्तेहसाल ) और 342 (गलत तरीके से रोकना), 376 (आबरूरेज़ी ), 376-2एफ और 376-2के (अपने ओहदे का फायदा उठाना और अपनी कस्टडी में खातून के साथ आबरूरेज़ी करना) के तहत इल्ज़ाम लगाए हैं। चीफ जुडिशियल मजिस्ट्रेट अनुजा प्रभुदेसाई के सामने दाखिल 2,684 सफआत ( पन्नो) की चार्जशीट में मुतास्सिरा, तहलका मौगजीन के मुलाज़िमो और मामले के जांच आफीसर समेत 152 गवाहों के बयान हैं।

चार्जशीट में कहा गया है कि यह साबित करने के लिए रिकॉर्ड में काफी बयान हैं कि तेजपाल ने आबरूरेज़ी और इस्तेहसाल करने की बात कुबूल की। तेजपाल (50 साल) पर नवंबर, 2013 में गोवा में मुनाकिद तहलका के थिंकफेस्ट के दौरान होटल के लिफ्ट में अपनी खातून साथी के साथ आबरूरेज़ी का इल्ज़ाम है। हालांकि तेजपाल ने इन इल्ज़ामात से इनकार किया है।

जाने-माने सहाफी तेजपाल को गोवा पुलिस ने 30 नवंबर को गिरफ्तार किया था, जब उनकी जमानत अर्जी कोर्ट ने ठुकरा दी थी। तेजपाल फिलहाल पणजी में अदालती हिरासत में हैं।

TOPPOPULARRECENT