Saturday , December 16 2017

तेजस्वी को सीएम पद का चेहरा घोषित करते ही राजद में बवाल,

पटना : राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव के पुत्र एवं बिहार के पूर्व डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव को पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष रामचंद्र पूर्वे द्वारा सीएम पद का चेहरा घोषित किये जाने पर सवाल खड़ा होने लगा है. खास बात यह है कि यह सवाल लालू यादव की पार्टी के ही प्रमुख नेता अब्दुल बारी सिद्दीकी ने खड़ा किया है. पार्टी के वरिष्ठ नेता और पूर्व मंत्री अब्दुल बारी सिद्दीकी ने कहा कि राजद के राष्ट्रीय अध्यक्ष लालू यादव ने तो इस मसले पर कुछ नहीं कहा है. जब तक वो नहीं कहते की सीएम पद के लिये उम्मीदवार तेजस्वी होंगे तब तक ये कैसे माना जाये.

सिद्दीकी ने मीडिया से बातचीत में आगे कहा कि ये सिर्फ रामचंद्र पूर्वे की भावना है कि तेजस्वी 2020 में मुख्यमंत्री पद के लिये पार्टी का चेहरा होंगे. उन्होंने कहा कि पार्टी की प्राथमिकता नीतीश कुमार को सबक सिखाना है ऐसे में मुख्यमंत्री का चेहरा तो बाद में भी तय हो जायेगा. पूर्व मंत्री ने कहा कि मुख्यमंत्री कोई भी हो सकता है ये समस्या नहीं हैं.

गौरतलब है कि राजद के प्रदेश अध्यक्ष की कमान तीसरी बार संभालने वाले रामचंद्र पूर्वे ने विधानसभा में नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव को 2020 के चुनाव में राजद का सीएम पद के लिये चेहरा बताया था. जिसको लेकर प्रतिक्रिया देते हुए अब्दुल बारी सिद्दीकी ने यह प्रतिक्रिया दी है. सिद्धिकी आरजेडी के दिग्गज नेता हैं और मुस्लिम चेहरा भी. कई बार लालू प्रसाद के विरोधी यह कह चुके हैं कि वे मुसलमानों के हितैषी होने का दावा करते हैं लेकिन वरिष्ठ नेता अब्दुल बारी सिद्धिकी के सामने वे अपने अनुभवहीन बेटे को तरजीह दे रहे हैं. सिद्धिकी के बयान से यह लग रहा है कि शायद वो भी यह बात महसूस कर रहे हैं, नहीं तो वे पूर्वे के बयान से असहमति नहीं जताते.

TOPPOPULARRECENT