Monday , November 20 2017
Home / Politics / तेज नारायण सपा से बर्खास्त

तेज नारायण सपा से बर्खास्त

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के वन राज्यमंत्री तेज नारायण उर्फ पवन पांडेय को राज्य विधान परिषद सदस्य आशु देश को पीटने के आरोप में समाजवादी पार्टी (सपा) से आज छह साल के लिए निष्कासित कर दिया गया। समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल सिंह यादव ने यह जानकारी देते हुए पत्रकारों को बताया कि श्री पांडेय को मंत्रिमंडल से बर्खास्त करने के लिए मुख्यमंत्री को पत्र लिखा जा रहा है।
श्री देश सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव के काफी करीबी हैं। श्री देश के अनुसार गत 24 अक्टूबर को उन्हें श्री पांडे ने मुख्यमंत्री आवास में मारा था। इसकी शिकायत उन्होंने पुलिस में भी दर्ज कराई है। देश के साथ मारपीट की वजह से मुलायम सिंह यादव पवन पांडे से काफी नाराज थे।

समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष शिवपाल यादव ने कहा कि पवन पांडे पर मुख्यमंत्री निवास पर आशु देश को मारने का गंभीर आरोप है। पार्टी ने इसे अनुशासनहीनता मानते हुए उन्हें छह साल के लिए निकालने का फैसला किया है। श्री यादव ने कहा कि अनुशासन बर्दाश्त नहीं की जाएगी। जो भी पार्टी की नीतियों के खिलाफ काम करेगा उसके साथ यही कदम उठाया जाएगा। एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि विधान परिषद के तीन सदस्यों सुनील यादव, आनंद भदोरिया और संजय लाठोर सहित पार्टी पहले ही निकाले जा चुके अन्य लोगों की वापसी होगी या नहीं, इस पर उन्होंने कहा कि उनके बारे में फैसला नेताजी (मुलायम सिंह यादव) करेंगे। विधान परिषद के इन तीन सदस्यों और उनके साथ निकाले गए अन्य युवाओं को मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के करीबी माना जाता है।

पार्टी सूत्रों के अनुसार तेज नारायण पांडे से मुख्यमंत्री खफा थे .नाराज़गी कारण श्री पांडे ने शिवपाल यादव से निकटता बढ़ा ली थी। लेकिन पार्टी में जारी घमासान को देखते हुए उन्होंने स्टैंड बदलने की कोशिश की। इसी कोशिश में मुख्यमंत्री के पास आने के लिए उन्होंने श्री देश के साथ हाथापाई की। सपा के प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि पार्टी और परिवार एक है। कहीं कोई विवाद नहीं है। कैबिनेट में उनकी वापसी का फैसला नेताजी करेंगे। नेताजी जो कहेंगे वही होगा। गौरतलब है कि 24 अक्टूबर को सपा अध्यक्ष मुलायम सिंह यादव द्वारा बुलाया गया मीटिंग खत्म होने के ठीक पहले आशु देश के एक पत्र का उल्लेख आया था। इसी के बाद ही चाचा शिवपाल सिंह यादव और भतीजे मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के बीच माइक छीना झपटी को लेकर धक्कामुक्की हुई थी।

TOPPOPULARRECENT