Monday , June 18 2018

तेलंगाना असेंबली में एक लाख करोड़ रुपये के बजट की पेशकशी

वज़ीरे फ़ाइनेन्स रियासत तेलंगाना मिस्टर ई राजिंदर ने नव तशकील शूदा रियासत तेलंगाना के लिये दस माह की मुद्दत पर मबनी पहला बजट बराए साल 2014-15 पेश करने का एज़ाज़ हासिल किया। वज़ीरे फ़ाइनेन्स अपोज़ीशन जमातों कांग्रेस, तेलुगु देशम और बी जे पी के एहतेजाज शोरो गुल के दौरान अपनी बजट तक़रीर को जारी रखा।

ताहम बजट तक़रीर के ऐन इख़तेताम से क़ब्ल वज़ीरे फ़ाइनेन्स के पेश कर्दा बजट पर एहतेजाज करते हुए कांग्रेस तेलंगाना तेलुगु देशम पार्टी और तेलंगाना बी जे पी के तमाम अरकान ऐवान से बाहर (वाक आउट) चले गए। वज़ीर ने साल 2014-15 के दस माह मुद्दत की बाबत जुमला 1.00.637.96 करोड़ रूपयों पर मबनी बजट आज ऐवान में पेश किया।

जुमला बजट रक़ूमात के मिनजुमला 51.989.49 करोड़ गैर मंसूबा जाती मसारिफ़ और 48.648.47 करोड़ रुपये मंसूबा जाती मसारिफ़ शामिल हैं। वज़ीरे फ़ाइनेन्स ने कहा कि इस तरह मालीयाती साल 2014-15 के इख़तेताम तक रियासत का मालीयाती ख़सारा 17.398.72 करोड़ रुपये होगा जब कि फ़ाज़िल आमदनी का तख़मीना 301.02 करोड़ रुपये किया गया है।

तेलंगाना क़ानूनसाज़ असेंबली के बजट सेशन का आज जैसे ही आग़ाज़ हुआ स्पीकर असेंबली रियासत तेलंगाना मिस्टर मधु सुदन चारी की सदारत में ऐवान की कार्रवाई का आग़ाज़ हुआ। क़ौमी तराना के इख़तेताम के साथ ही ऐवान में किसी और कार्रवाई के बगैर बजट पेश किए जाने का एलान करते हुए वज़ीरे फ़ाइनेन्स से बजट पेश करने की ख़ाहिश की।

इसी दौरान एक तरफ अपोज़ीशन जमाअतें मुख़्तलिफ़ मौज़ूआत जैसे किसानों के ख़ुदकुशी वाक़ियात, बर्क़ी मसाइल पर अपना एहतेजाज जारी रखा। दूसरी तरफ़ तेलंगाना राष़्ट्रा समीति के अरकान असेंबली मेज़ थपथपाते हुए वज़ीरे फ़ाइनेन्स की सताइश कर के हिम्मत अफ़्ज़ाई कर रहे थे। वज़ीर ने कहा कि उन की किसान हुकूमत है। ज़रई शोबा को नफ़ा बख़्श बनाने ख़ुसूसी इक़दामात किए जा रहे हैं और अपने इंतिख़ाबी वादों की रोशनी में बरसरे इक्तेदार आने के साथ ही हुकूमत ने 17 हज़ार करोड़ रुपये मालियती किसानों के क़र्ज़ा जात माफ़ किए।

उन्हों ने कहा कि उन की हुकूमत आइन्दा पाँच साल के दौरान 20 हज़ार मेगावाट बर्क़ी पैदावार को यक़ीनी बनाने का निशाना मुक़र्रर किया है और इस तरह बर्क़ी शोबा के लिये 3241 करोड़ रुपये बजट में मुख़तस किए गए हैं। इलावा अज़ीं एन टी पी सी के ज़रीए 4 हज़ार मेगावाट बर्क़ी पैदावार के लिये इक़दामात का आग़ाज़ कर दिया गया है। मज़ीद 6 हज़ार मेगावाट बर्क़ी जेनको के ज़रीए पैदावार करने 1000 करोड़ रुपये ख़र्च किए जाएंगे।

मिस्टर ई राजिंदर ने तेलंगाना में मुख़्तलिफ़ तबक़ात बिलख़सूस अक़लीयती तबक़ात की फ़लाहो बहबूद का तज़किरा करते हुए कहा कि तेलंगाना रियासत में 11 फ़ीसद से ज़ाइद तादाद में पाए जाने वाले अक़लीयती तबक़ात की फ़लाहो बहबूद के लिये बजट में 1030 करोड़ रुपये की रक़म फ़राहम की गई है। उन्हों ने कहा कि अक़लीयतें बदस्तूर समाजी और मआशी अदम मुसावात से दो-चार हैं।

जो साबिक़ा हुकूमतों के सेक्यूलर किरदार पर ज़बरदस्त सवालिया निशान है। वज़ीर ने कहा अगर्चे कि माज़ी को तब्दील तो नहीं किया जा सकता। लेकिन उन की हुकूमत अक़लीयती बहबूद से मुताल्लिक़ मौजूदा मसाइल के हल का अज़म रखती है और कहा कि हुकूमत दीगर तबक़ा की गरीब लड़कियों की शादियों के लिये मुरत्तिब कर्दा कल्लयाना लक्ष्मी स्कीम के ख़ुतूत पर गरीब मुस्लिम लड़कियों की शादी के लिये रुकमी इमदाद फ़राहम करने के मक़सद से शादी मुबारक स्कीम को मुतआरिफ़ की।

जारीया साल इस स्कीम लिये निशाना मुक़र्रर करके फ़ी लड़की की शादी के लिये 51 हज़ार रूपयों के हिसाब से बिलतर्तीब 150 करोड़, 80 करोड़ और 100 करोड़ रूपयों का तख़मीना मुख़तस करने की तजवीज़ रखी है। मिस्टर ई राजिंदर ने अपनी एक घंटा 5 मिनट तवील बजट तक़रीर ख़त्म करने के साथ ही स्पीकर असेंबली मिस्टर मधूसुदन चारी ने असेंबली की कार्रवाई को 7 नवंबर सुबह दस बजे तक के लिए मुल्तवी करने का एलान किया।

TOPPOPULARRECENT