Thursday , December 14 2017

तेलंगाना क़ाइदीन में इत्तिहाद का फ़ुक़दान

कांग्रेस के तेलंगाना एम पीज़ ने कहा कि तेलंगाना के मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों में इत्तिहाद के फ़ुक़दान की वजह से अलैहदा तेलंगाना की तशकील में ताख़ीर हो रही है। जमाती वाबस्तगी से बालातर होकर तहरीक चलाने और ज़रूरत पड़ने पर सदर जमहू

कांग्रेस के तेलंगाना एम पीज़ ने कहा कि तेलंगाना के मुंतख़ब अवामी नुमाइंदों में इत्तिहाद के फ़ुक़दान की वजह से अलैहदा तेलंगाना की तशकील में ताख़ीर हो रही है। जमाती वाबस्तगी से बालातर होकर तहरीक चलाने और ज़रूरत पड़ने पर सदर जमहूरीया से मुलाक़ात के लिए तैय्यार रहने चाहीए और कहा कि रेनूका चौधरी ना तेलंगाना की बेटी हैं और ना ही बहू हैं।

सहाफ़त से मुलाक़ात प्रोग्राम से ख़िताब करते हुए कांग्रेस एम पीज़ मिसरज़ ऐम जगनाथम, पूनम प्रभाकर, जी वीवेक ने कहा कि तेलंगाना के कांग्रेस एम पीज़ तेलंगाना मसला पर कोई समझौता नहीं करेंगे और ना ही वो एहतिजाज के नाम पर कोई ड्रामा कर रहे हैं। एम पीज़ दिल्ली पहुंच कर मुस्तक़बिल की हिक्मत-ए-अमली (पालिसी) तैय्यार करेंगे ।

मिस्टर ऐम जगनाथम ने कहा के तेलंगाना कांग्रेस अरकान-ए-पार्लीमैंट एहतिजाज करते हुए तेलंगाना अवाम के जज़बात से पार्लीमैंट को वाक़िफ़ करा रहे हैं, मगर अफ़सोस इस बात का है कि तेलंगाना की नुमाइंदगी करने वाले क़ाइदीन (रेनूका चौधरी और पी गोवर्धन रेड्डी) हमारे एहतिजाज को बग़ावत क़रार दे रहे हैं।

2004 में कांग्रेस ने तेलंगाना के मसला पर मुनासिब-ए-वक़्त पर फ़ैसला का ऐलान किया था और 9 दिसंबर 2009 -को अलैहदा तेलंगाना रियासत का ऐलान किया था, उसी वाअदा को पूरा करने हम एहतिजाज कर रहे हैं। हमारा कोई दूसरा एजंडा नहीं है, सिर्फ तेलंगाना ही हमारा एजंडा है। जी वीवेक ने कहा कि तेलंगाना के कांग्रेस एम पीज़ पर दबाउ है, बिलख़सूस सीमा।

आंध्रा क़ाइदीन का दबाउ है। हम पर दूसरों की उंगलीयों पर नाचने और दीगर जमातों को फ़ायदा पहुंचाने का इल्ज़ाम है, हमें डराने धमकाने और ओहदों की पेशकश की जा रही है, मगर हम तेलंगाना मसला पर अटल हैं। हमारे दरमयान फूट डालने की भी कोशिश की गई, इस के बावजूद हम मुत्तहिद हैं।

मिस्टर पूनम प्रभाकर ने कहा कि तेलंगाना कांग्रेस के अरकान-ए-पार्लीमैंट मुत्तहदा जद्द-ओ-जहद कर रहे हैं, रेनूका चौधरी और गोवर्धन रेड्डी को हमारे साथ हो जाना चाहीए।

उन्हों ने कहा कि तेलंगाना क़ाइदीन को जमाती वाबस्तगी से बालातर(उपर) होकर जद्द-ओ-जहद करना चाहीए, तमाम क़ाइदीन 22 मई तक मुत्तहिद हो जाएं और अपनी तहरीक को दिल्ली तक पहुंचाएं।

TOPPOPULARRECENT