Monday , September 24 2018

तेलंगाना की सूरत-ए-हाल से सोनीया गांधी को वाक़िफ़ीयत

तेलंगाना के कांग्रेस अरकान-ए-पार्लियामेंट ने आज सुबह पार्टी सदर सोनीया गांधी से मुलाक़ात की और 28 दिसंबर को तेलंगाना पर कुल जमाती इजलास तलब करने पर इज़हार-ए-तशक्कुर किया और मोअल्लना तारीख़ से कब्ल तेलंगाना पर कांग्रेस के वाज़िह

तेलंगाना के कांग्रेस अरकान-ए-पार्लियामेंट ने आज सुबह पार्टी सदर सोनीया गांधी से मुलाक़ात की और 28 दिसंबर को तेलंगाना पर कुल जमाती इजलास तलब करने पर इज़हार-ए-तशक्कुर किया और मोअल्लना तारीख़ से कब्ल तेलंगाना पर कांग्रेस के वाज़िह मौक़िफ़ के एलान का मुतालिबा किया। इस मुलाक़ात के दौरान मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत गूलाम नबी आज़ाद और मिस्टर अहमद पटेल भी मौजूद थे।मिसिज़ सोनीया गांधी से 40 मिनट तक बातचीत जारी रही।

उन्हों ने कहा कि अलहिदा रियासत की तशकील तक हमारी जद्द-ओ-जहद जारी रहेगी। तेलुगू देशम और वाई एस आर कांग्रेस के लिए वक़्त आ गया है कि वो अब मुख़ालिफ़ तेलंगाना ना होने का सबूत पेश करें। मिस्टर पूनम प्रभाकर ने कहा कि हम ने तेलंगाना मसला पर अपनी संजीदगी का सबूत देते हुए मर्कज़ी हुकूमत और हाईकमान को तेलंगाना पर कुल जमाती इजलास तलब करने पर मजबूर किया, लेकिन चंद जमातें और क़ाइदीन उस को सब से बड़ा मज़ाक़ और कुल जमाती इजलास को बेफ़ैज़ क़रार दे रहे हैं, जब कि तेलंगाना के अवाम जानते हैं कि अलहिदा रियासत की जद्द-ओ-जहद में तेलंगाना के कांग्रेस अरकान-ए-पार्लियामेंट का रोल क्या है।

उन्हों ने कहा कि तेलुगू देशम और वाई एस आर कांग्रेस के क़ाइदीन तेलंगाना में पदयात्रा करते हुए मुख़ालिफ़ तेलंगाना ना होने का इद्दिआ कर रहे हैं, जिस का सही अंदाज़ा 28 दिसंबर को हो जाएगा। उन्हों ने तेलंगाना पर कांग्रेस के मौक़िफ़ के बारे में इस्तिफ़सार करने वाले क़ाइदीन को जवाब देते हुए कहा कि 9 दिसंबर 2009 को जो एलान किया गया था, वही कांग्रेस पार्टी का असल मौक़िफ़ है।

TOPPOPULARRECENT