Saturday , December 16 2017

तेलंगाना के बर्क़ी सारिफ़ीन को अनक़रीब फ़्यूल सरचार्ज का ज़ोरदार झटक

हैदराबाद 16 मार्च: रियासत तेलंगाना के बर्क़ी सारिफ़ीन को हुकूमत की तरफ से बहुत जल्द फ़्यूल सरचार्ज का ज़ोरदार झटका दिया जाने वाला है। ज़राए से मौसूला इत्तेलाआत के मुताबिक हुकूमत ने जारीया बजट सेशन के सबब फ़ौरी तौर पर फ़्यूल सरचार्ज नाफ़िज़ करने के मुताल्लिक़ फ़ैसला नहीं किया है लेकिन मन्सूबे में शामिल फ़ैसले के मुताबिक़ बहुत जल्द इलेक्ट्रिसिटी रेगूलेटरी कमीशन इस सिलसिले में आलामीया जारीया करते हुए फ़्यूल सरचार्ज नाफ़िज़ करने का फ़ैसला करेगा।

माहिरीन के मुताबिक रियासत में बर्क़ी पैदावार और आमदनी-ओ-अख़राजात में यकसानियत पैदा करने के लिए एफ़ एस ए फ़्यूल सरचार्ज एडजस्टमेंट का नफ़ाज़ नागुज़ीर है। बर्क़ी सारिफ़ीन पर फ़्यूल सरचार्ज का बोझ आइद किए जाने के बाद ही महिकमा बर्क़ी की आमदनी-ओ-अख़राजात में यकसानियत पैदा किया जाना मुम्किन है।

फ़्यूल सरचार्ज के नफ़ाज़ के मुताल्लिक़ हुकूमत को इलेक्ट्रिसिटी रेगूलेटरी कमीशन से इजाज़त हासिल करना लाज़िमी होता है। 2016-17 की सालाना मुतवक़्क़े आमदनी की रिपोर्ट में गुमराह कुन आदाद-ओ-शुमार दिखाए गए हैं और ये तास्सुर(असर) देने की कोशिश की गई है कि एफ़ एस ए की नफ़ाज़ की ज़रूरत नहीं है लेकिन फ़्यूल सरचार्ज दरहक़ीक़त उस वक़्त वसूल किया जाता है जब महिकमा बर्क़ी खास्कर डिस्कॉमस की आमदनी-ओ-अख़राजात में यकसानियत नहीं होती। एसी सूरत में अख़राजात पर आइद होने वाले इज़ाफ़ी माली बोझ को अवाम से वसूल करते हुए यकसानियत पैदा करने की कोशिश की जाती है।

TOPPOPULARRECENT