Wednesday , December 13 2017

तेलंगाना के 4.5 करोड़ अवाम की कामयाबी : ज़ाहिद अली ख़ां

जनाब ज़ाहिद अली ख़ां एडीटर रोज़नामा सियासत ने लोक सभा में तेलंगाना बल को मंज़ूरी दिए जाने का ख़ौरमक़दम करते हुए कहा कि 58 साला क़दीम इस मुतालिबा के पूरा होने के आसार नुमायां होचुके हैं।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ां एडीटर रोज़नामा सियासत ने लोक सभा में तेलंगाना बल को मंज़ूरी दिए जाने का ख़ौरमक़दम करते हुए कहा कि 58 साला क़दीम इस मुतालिबा के पूरा होने के आसार नुमायां होचुके हैं।

उन्होंने तेलंगाना बिल की लोक सभा में मंज़ूरी पर रद्द-ए-अमल ज़ाहिर करते हुए कहा कि ये किसी सियासी जमात, क़ाइद या फिर तेलंगाना हामी तंज़ीमों की कामयाबी नहीं बल्कि तेलंगाना के 4.5 करोड़ अवाम की कामयाबी है।

उन्होंने सियासी जमातों को मश्वरह दिया कि वो अपने वादों पर बरक़रार रहते हुए अवाम का एतेमाद हासिल करें। जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ने तेलंगाना की मुख़ालिफ़त करने वालों को तन्क़ीद का निशाना बनाते हुए कहा कि जिन लोगों के तिजारती मुफ़ादात हैदराबाद से जुड़े हुए हैं वो अलाहिदा रियासत की तशकील की मुख़ालिफ़त कररहे हैं और अवामी मुतालिबा को दबाने में मसरूफ़ हैं।

एडीटर रोज़नामा सियासत ने बताया कि तेलंगाना मसला तेलंगाना अवाम की इज़्ज़त नफ़स का मसला है लेकिन दूसरे ख़तों से ताल्लुक़ रखने वालों की मर्ज़ी उन पर मुसल्लत की जा रही थी मगर अब एसा नहीं होगा।

उन्होंने हैदराबाद को 10 साल के लिए मुशतर्का सदर मुक़ाम बनाए जाने पर ब्रहमी का इज़हार करते हुए कहा कि आज के असरी दौर में अंदरून 5 बरस शहर की तामीर-ओ-तरक़्क़ी को यक़ीनी बनाया जा सकता है।

इसी लिए इस तरमीम के मुताल्लिक़ मुंख़बा अवामी नुमाइंदों को ग़ौर करना चाहीए। जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ने ला ऐंड आर्डर को गवर्नर के हवाले किए जाने पर भी अफ़सोस का इज़हार करते हुए कहा कि पुलिस रास्त गवर्नर की निगरानी में होने के सबब सियासतदानों की या अवामी नमाइनों की नुमाइंदगीयाँ असरअंदाज़ नहीं होंगी जिस के नतीजे में हैदराबाद में भी दिल्ली जैसी सूरते हाल पैदा होसकती है।

उन्होंने सदर तेलंगाना राष़्ट्रा समीती के चंद्रशेखर राव‌ को मुबारकबाद देते हुए कहा कि के सी आर के लिए अब तक जद्द-ओ-जहद का वक़्त था और अब इमतिहान का वक़्त है।

इसी लिए उन्हें चाहीए कि वो किसी भी फ़ैसले से पहले मुसलमानों को 12 फ़ीसद तहफ़्फुज़ात की फ़राहमी के अलावा सियासी तहफ़्फुज़ात-ओ-डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर के ओहदे के वादों को फ़रामोश ना करे।

एडीटर सियासत ने रियासत तेलंगाना के लिए नेक ख़ाहिशात का इज़हार करते हुए कहा कि वो इस बात का यक़ीन रखते हैं कि हैदराबाद की गंगा जमुनी तहज़ीब की बाज़याबी को इस रियासत में यक़ीनी बनाया जाएगा और रियासत तेलंगाना मुल्क की दुसरी रियास्तों से ज़्यादा तेज़ रफ़्तार तरक़्क़ी, फ़िर्कावाराना हम आहंगी, बेहतर ज़रई पैदावार, बेहतर तालीमी निज़ाम, उर्दू की तरक़्क़ी के अलावा बेहतरीन मआशी पालिसी के ज़रीये मुल्क भर में अपना मुनफ़रद मुक़ाम पैदा करेगी।

जनाब ज़ाहिद अली ख़ां ने बताया कि तेलंगाना हामी क़ाइदीन को चाहीए कि वो हैदराबाद के अलावा तेलंगाना के दुसरे अज़ला में क़ियाम किए हुए सीमांध्र अवाम में एतेमाद बहाल करते हुए उन्हें किसी भी तरह के ख़दशा में मुबतला ना होने दें। उन्होंने रियासत की तक़सीम के तरीका-ए-कार को अफ़सोसनाक क़रार देते हुए कहा कि ये तरीक़ दरुस्त नहीं था लेकिन 58 साला इस मुतालिबा की यकसूई भी ज़रूरी थी।

TOPPOPULARRECENT