Sunday , December 17 2017

तेलंगाना ख़ुशी से झूम उठा

आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल की राज्य सभा में मंज़ूरी के साथ ही सारा तेलंगाना ख़ुशी से झूम उठा तेलंगाना के हामी अवाम सड़कों पर निकल आए और ख़ुशी के आलम में रक़्स करने लगे।

आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल की राज्य सभा में मंज़ूरी के साथ ही सारा तेलंगाना ख़ुशी से झूम उठा तेलंगाना के हामी अवाम सड़कों पर निकल आए और ख़ुशी के आलम में रक़्स करने लगे।

वो आतशबाज़ी का मुज़ाहरा और एक दूसरे पर गुलाल फेंक रहे थे। अवाम में मिठाईयां भी तक़सीम की गईं। हैदराबाद के बिशमोल तेलंगाना के दुसरे अज़ला वर्ंगल, करीमनगर और मेदक में कई मुक़ामात पर अवामी जश्न मनाया गया।

अवाम की कसीर तादाद ने तेलंगाना शहीदाँ यादगार पहुंच कर ख़राज पेश किया। तेलंगाना राष्ट्र समीती के कारकुनों ने पार्टी ऑफ़िस तेलंगाना भवन के रूबरू आतशबाज़ी का मुज़ाहरा किया।

वाज़िह रहे कि अलाहिदा रियासत तेलंगाना तहरीक में टी आर एस का कलीदी रोल रहा और वो इस तहरीक को कामयाबी से हमकनार करने में पेश पेश रही।

राज्य सभा में तेलंगाना बिल की मंज़ूरी के साथ ही मुल्क में 29 वीं रियासत का क़ियाम यक़ीनी होगया है। अलाहिदा रियासत तेलंगाना की तहरीक तक़रीबन 60 साल क़दीम है और इस तवील सफ़र के दौरान कई नशेब-ओ-फ़राज़ देखने में आए। तेलंगाना अवाम का ये मौक़िफ़ रहा कि यहां के वसाइल पर आंध्र के अवाम ने क़बज़ा करलिया है और रोज़गार के मवाक़े से उन्हें महरूम कर दिया गया। पानी की तक़सीम और दुसरे शोबों में इलाके तेलंगाना केसाथ नाइंसाफ़ीयां की गईं। बी जे पी की ताईद के बाद राज्य सभा में तेलंगाना बिल की मंज़ूरी केसाथ ही तवील तजस्सुस-ओ-ग़ैर यक़ीनी कैफ़ीयत ख़त्म हुई।

TOPPOPULARRECENT