Friday , January 19 2018

तेलंगाना नोट काबीनी मीटिंग में पेश नहीं किया गया, हुकूमत फ़ैसले पर अटल

मर्कज़ी हुकूमत ने आज दो टोक अलफ़ाज़ में वज़ाहत की हैके मसला तेलंगाना पर इस ने कोई दूसरी राए नहीं बनाई है।

मर्कज़ी हुकूमत ने आज दो टोक अलफ़ाज़ में वज़ाहत की हैके मसला तेलंगाना पर इस ने कोई दूसरी राए नहीं बनाई है।

वो अलाहिदा तेलंगाना के फ़ैसले पर अटल है और इस का अमल जारी है, जो पाँच रियासती असेंबलीयों के मुजव्वज़ा चुनाव से मुतास्सिर नहीं होगा।

वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिंदे ने 2 सितंबर को एलान किया था कि अंदरून 20 यौम मर्कज़ी काबीना में तेलंगाना पर नोट पेश किया जाएगा, ताकि अलाहिदा रियासत के क़ियाम के अमल का बाज़ाबता आग़ाज़ किया जा सके, लेकिन आज मुनाक़िदा काबीनी मीटिंग में ये नोट पेश ना किए जाने के सबब बाअज़ गोशों में पैदा शूदा शुबहात को ख़त्म करने के लिए हुकूमत ने ये वज़ाहत की।

इस सवाल पर कि आया अलाहिदा रियासत के मसले पर हुकूमत ने दूसरा ज़हन बना लिया है?। वज़ीर‍ ए‍ इत्तेलात-ओ-नशरियात मनीष तेवारी ने जवाब दिया कि तेलंगाना के बारे में हुकूमत अपने मालना मौक़िफ़ पर अटल है, जिस में तबदीली का कोई सवाल ही नहीं पैदा होता।

उन्होंने कहा कि तेलंगाना के सवाल से चंद हस्सास मुआमलात भी वाबस्ता हैं, जिस की मुंसिफ़ाना यकसूई के लिए तफ़सीली ग़ौर-ओ-ख़ौज़ और एक तवील वक़्त दरकार है।

इस मक़सद से हुकूमत-ए-हिन्द ने एक कमीशन तशकील दी थी, जिस ने रिपोर्ट पेश करदी है, जिस की बुनियाद पर हुकूमत ने फ़ैसला किया है, जो यक़ीनन बरक़रार रहेगा।

मनीष तेवारी ने कहा कि तेलंगाना रियासत की तशकील के फ़ैसले पर नज़रसानी का सवाल ही नहीं पैदा होता। तशकील तेलंगाना रियासत का अमल तेज़ी से जारी है।

रियासत आंध्र प्रदेश की तक़सीम के लिए मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला ने काबीनी नोट तैयार करलिया है और ये नोट मर्कज़ी सुशील कुमार शिंदे तक पहुंच चुका है, जिस का वो जायज़ा ले रहे हैं और बहुत जल्द मर्कज़ी काबीना से रुजू किया जाएगा।

उन्होंने कहा कि अलाहिदा रियासत की तशकील के लिए सयासी तौर पर मंज़ूरी हासिल होने के बाद नोट को काबीना में मंज़ूरी दी जाएगी।

उन्होंने कहा कि मुल्क के पाँच रियास्तों के चुनाव से तेलंगाना का कोई ताल्लुक़ नहीं है और ना ही तशकील तेलंगाना के अमल में कोई रुकावट पैदा होगी।

उन्होंने कहा कि अलाहिदा तेलंगाना रियासत की तशकील के फ़ैसले पर हम क़ायम हैं, इस में कोई तबदीली नहीं होगी। हैदराबाद पर भी बहुत जल्द फ़ैसला हो जाएगा।

TOPPOPULARRECENT