Friday , April 27 2018

तेलंगाना पर आज दिल्ली में कुल जमाती मीटिंग

हैदराबाद 28 दिसंबर: मर्कज़ी की तरफ से 28 दिसंबर को मुनाक़िद शुदणी कुल जमाती मीटिंग में शिरकत करनेवाली आंध्र रदेश की 8 मदऊ सयासी जमातों ने अपनी अपनी हिक्मत-ए-अमली तैयार करली है और मीटिंग में शिरकत करने वाले बेशतर नुमाइंदे दिल्ली भी पहु

हैदराबाद 28 दिसंबर: मर्कज़ी की तरफ से 28 दिसंबर को मुनाक़िद शुदणी कुल जमाती मीटिंग में शिरकत करनेवाली आंध्र रदेश की 8 मदऊ सयासी जमातों ने अपनी अपनी हिक्मत-ए-अमली तैयार करली है और मीटिंग में शिरकत करने वाले बेशतर नुमाइंदे दिल्ली भी पहुंच चुके हैं।

मर्कज़ी वज़ारत-ए-दाख़िला ने हुक्मराँ कांग्रेस, असल अप्पोज़ीशन तेलगुदेशम, बी जे पी, सी पी आई, सी पी एम, वाई एस आर कांग्रेस, टी आर एस और मजलिस को कुल जमाती मीटिंग में शिरकत के लिए मदऊ किया है।

कांग्रेस हाईकमान ने कांग्रेस के 6 क़ाइदीन को दिल्ली तलब किया है, जिन का मीटिंग मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज आंध्र प्रदेश कांग्रेस उमूर ग़ुलाम नबी आज़ाद के साथ जारी है।

चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी भी रात में दिल्ली पहुंच जाऐंगे। सदर तेलगुदेशम एन चंद्रा बाबू नायडू ने ज़िला करीमनगर में पोलीट ब्यूरो कि मीटिंग तलब करते हुए कुल जमाती मीटिंग में शिरकत के लिए अपने दो नुमाइंदों का इंतिख़ाब किया।

वाई राम कृष्णो डू सीमा। आंध्र की नुमाइंदगी करेंगे, जब कि सिरी हरी तेलंगाना की नुमाइंदगी करेंगे। तेलगुदेशम के ये नुमाइंदे पार्टी सदर एन चंद्रा बाबू नायडू का मुहरबनद लिफ़ाफ़ा मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला को पेश करेंगे।

वाई एस आर कांग्रेस की तरफ से डाक्टर एम वे मीसोरा रेड्डी सीमा। आंध्र और के के महिन्द्र रेड्डी तेलंगाना की नुमाइंदगी करें। टी आर एस की तरफ से सरबराह टी आर एस के चन्द्र शेखर राव‌ और साबिक़ रियास्ती वज़ीर एन नरसिम्हा शिरकत करेंगे।

बी जे पी की तरफ से बी जे पी के रियास्ती सदर जी किशन रेड्डी और हरी बाबू, सी पी आई की तरफ से रियास्ती सैक्रेटरी डाक्टर के ना रावना और जी मलीश, सी पी एम की तरफ से रियास्ती सैक्रेटरी बीवी राघवल्लू और जय रंगा रेड्डी, मजलिस की तरफ से सदर मजलिस असद उद्दीन उवेसी के अलावा पार्टी के सीनियर तरीन और मुसलसल चार मर्तबा मुंतख़ब रुकन असेंबली मुमताज़ अहमद ख़ां की इस मीटिंग में शिरकत का इमकान है ।

वाज़िह रहे कि कुल जमाती मीटिंग में शरीक होने वाली 8 सयासी जमातों में से 4 जमातों का मौक़िफ़ वाज़िह है। टी आर एस, सी पी आई और बी जे पी तेलंगाना की ताईद में हैं, जब कि सी पी एम मुत्तहदा आंध्र की हामी है।

कांग्रेस, तेलगुदेशम और वाई एस आर कांग्रेस का कोई वाज़िह मौक़िफ़ नहीं है, जब कि मजलिस का मौक़िफ़ मुत्तहदा आंध्र प्रदेश या रॉयल तेलंगाना है।

वाई एस आर कांग्रेस ने एलान किया है कि इस के दोनों नुमाइंदे एक ही राय पेश करेंगे, जब कि हुक्मराँ कांग्रेस पर सीमा। आंध्र और तेलंगाना के कांग्रेस क़ाइदीन का दबाव बढ़ रहा है।

कांग्रेस पार्टी अपने किसी वाज़िह मौक़िफ़ के इज़हार से गुरेज़ कर रही है, जबकेए दुसरे जमातों की राय हासिल करने की कोशिश करते हुए आंध्र प्रदेश के अवाम को मज़ीद उलझाना चाहती है।

TOPPOPULARRECENT