Tuesday , December 12 2017

तेलंगाना पर वुज़रा(मंत्रीगण‌) नहीं अरकान-ए-पार्लीमैंट मुस्ताफ़ी (त्यागपत्र दाता)हूँ

हैदराबाद १६ अक्टूबर (एजैंसीज़) वज़ीर-ए-इत्तलात-ओ-ताअलुकात-ए-आमा डी के अरूना ने कहाकि तशकील रियासत के मसला पर सिर्फ तलंगाना इलाक़ा से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान-ए-पार्लीमैंट के अस्तीफ़ों के ज़रीया ही मर्कज़ पर अलैहदा तलंगाना रियासत

हैदराबाद १६ अक्टूबर (एजैंसीज़) वज़ीर-ए-इत्तलात-ओ-ताअलुकात-ए-आमा डी के अरूना ने कहाकि तशकील रियासत के मसला पर सिर्फ तलंगाना इलाक़ा से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान-ए-पार्लीमैंट के अस्तीफ़ों के ज़रीया ही मर्कज़ पर अलैहदा तलंगाना रियासत की तशकील से मुताल्लिक़(संबंधित‌) फ़ैसला करने के लिए दबाओ डाला जा सकता है।

इस तरह अरूना ने अरकान-ए-पार्लीमैंट को मुंहतोड़ जवाब दे दिया है जो मुसलसल तलंगाना वुज़रा से अस्तीफ़े के लिए इसरार कररहे हैं। अरूना ने कांग्रेस के इन क़ाइदीन पर तन्क़ीद की जो तलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले वुज़रा से अस्तीफ़े का मुतालिबा कर रहे हैं। उन्हों ने कहाकि तलंगाना से मुताल्लिक़(संबंधित‌)) फ़ैसला का इख़तियार मर्कज़ को है और ये मसला पार्लीमैंट में हल होता है।

अगर अरकान-ए-पार्लीमैंट मुस्ताफ़ी होकर क़ौमी सतह पर जद्द-ओ-जहद करें तब तलंगाना रियासत की जल्द तशकील मुम्किन होगी। उन्हों ने कहाकि साबिक़(पूर्व‌) मैं वुज़रा और अरकान असैंबली अपने अस्तीफ़े पार्टी हाईकमान को भेज चुके हैं लेकिन इस का कोई असर नहीं हुआ। अब अरकान-ए-पार्लीमैंट की बारी है उन्हें मुस्ताफ़ी(त्यागपत्र दाता) होना चाहिए ।

TOPPOPULARRECENT