Tuesday , January 23 2018

तेलंगाना पर सोनिया गांधी की किरण कुमार रेड्डी से तफ़सीली बातचीत

नई दिल्ली 05 फरवरी :तेलंगाना बोहरान पर कांग्रेस हाईकमान के सिलसिलेवार मुशावरती अमल से क़तए नज़र कांग्रेस की सदर सोनिया गांधी ने चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से आज सुबह मसला तेलंगाना ,रियासत की सयासी सूरत-ए-हाल और कांग्रेस के मौ

नई दिल्ली 05 फरवरी :तेलंगाना बोहरान पर कांग्रेस हाईकमान के सिलसिलेवार मुशावरती अमल से क़तए नज़र कांग्रेस की सदर सोनिया गांधी ने चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी से आज सुबह मसला तेलंगाना ,रियासत की सयासी सूरत-ए-हाल और कांग्रेस के मौक़िफ़ पर तफ़सीली तबादला ख़यालकया ।

कांग्रेस हाईकमान की तलबी पर चीफ़ मिनिस्टर दिल्ली पहूंचे थे जिस के फ़ोरान बाद उन्हों ने सब से पहले मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-आंध्र प्रदेश में कांग्रेस के तंज़ीमी उमूर के इंचार्ज ग़ुलाम नबी आज़ाद से निस्फ़ घंटे तक बिशमोल तेलंगाना ,रियासत की मजमूई सयासी सूरत-ए-हाल और कांग्रेस के उमूर पर तफ़सीली तबादला-ए-ख़्याल क्या ।

आज़ाद से बातचीत के फ़ौरी बाद किरण कुमार रेड्डी 10 जनपथ रोड पहूंचे जहां उन्हों ने अपनी पार्टी की सदर सोनीया गांधी से मुख़्तलिफ़ उमूर-ओ-मसाइल पर तक़रीबन 45 मिनट बात की । इस मौके पर गांधी के मोतमिद सयासी अहमद पटेल भी मौजूद थे । बावर किया जाता है कि इमदाद-ए-बाहमी के चुनाव के पहले मरहले में कांग्रेस के बेहतरीन मुज़ाहरा पर हाईकमान को रिपोर्ट पेश की ।
गांधी ने रेड्डी से बिलख़सूस मसला तेलंगाना पर पैदा शूदा ताज़ा तरीन सयासी सूरत-ए-हाल के बारे में मालूमात हासिल कीं । उन्हों ने अलहदा रियासत की तशकील की सूरत में सीमा आंध्र इलाके में रौनुमा होने वाले हालात और क़ियाम तेलंगाना पर फ़ैसले में ताख़ीर पर पैदा शुदणी सयासी सूरत-ए-हाल के बारे में काफ़ी दिलचस्पी के साथ वाक़फ़ीयत हासिल कीं ।

गांधी ने खासतौर ये मालूम करने से ग़ैरमामूली दिलचस्पी का इज़हार किया कि रियासत की तक़सीम की सूरत में कांग्रेस को आइन्दा चुनाव में लोक सभा की कितनी नशिस्तें हासिल होंगी और इस मसले पर जूं का तूं मौक़िफ़ बरक़रार रखने की सूरत में कांग्रेस कितनी नशिस्तों पर कामयाब हासिल करेगी ।

कांग्रेस की सदर ने इस रियासत में अपनी पार्टी के अरकान आसम्बली के वाई एस आर कांग्रेस पार्टी में इन्हिराफ़ को रोकने के लिए चीफ़ मिनिस्टर की तरफ से किए जाने वाले इक़दामात से भी वाक़फ़ीयत हासिल की । बावर किया जाता है कि किरण कुमार रेड्डी ने अपने इस यक़ीन का इज़हार किया कि आंध्र प्रदेश में कांग्रेस या उस की हुकूमत को कोई ख़तरा लाहक़ नहीं है और इमदाद-ए-बाहमी के चुनाव में शानदार कामयाबी इस बात की अमली मिसाल है कि कांग्रेस को अवाम के मुख़्तलिफ़ तबक़ात की भरपूर ताईद हासिल है । उन्हों ने इस यक़ीन का इज़हार भी किया कि इमदाद-ए-बाहमी चुनाव के आज मुनाक़िदा दूसरे मरहले में भी कांग्रेस को शानदार कामयाबी हासिल होगी । समझा जाता है कि सोनीया । किरण बातचीत के दौरान चीफ़ मिनिस्टर और प्रदेश कांग्रेस कमेटी के सदर बूसता सत्य नाराय‌ना के दरमयान मूसिर ताल मेल तआवुन के फ़ुक़दान पर भी ख़ुसूसीयत के साथ तबादला-ए-ख़्याल किया गया ।

दरहक़ीक़त मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने चीफ़ मिनिस्टर से बातचीत के दौरान एम आई एम रुकन असम्बली अकबर ओवैसी और कांग्रेस रुकन असम्बली पी शंकर राव से निमटने के तरीका-ए-कार पर नाख़ुशी का इज़हार किया और कहा कि एसे नाज़ुक-ओ-हस्सास मसाइल से मुहतात अंदाज़ में निमटा जाना चाहीए ।

आंध्र प्रदेश असम्बली के बजट सैशन के पुर सुकून अंदाज़ में इनइक़ाद के लिए किए जाने वाले इक़दामात के बारे में भी सोनीया गांधी ने वाक़फ़ीयत हासिल की और किसी रुकावट के बगै़र आइन्दा माली साल के बजट की मंज़ूरी को यक़ीनी बनाने पर ज़ोर दिया ।

किरण कुमार रेड्डी ने तमाम नामज़द ओहदों पर तक़र्रुत से मुताल्लिक़ अपना वाअदा याद दिलाते हुए इस के लिए हाईकमान गांधी से मुलाक़ात के बाद किरण कुमार रेड्डी ने मर्कज़ी वज़ीर-ए-दाख़िला सुशील कुमार शिन्दे से मुलाक़ात की । इस मौके पर आंध्र प्रदेश में अमन-ओ-क़ानून की ताज़ा तरीन सूरत-ए-हाल पर तबादला-ए-ख़्याल किया गया । सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बोतसा सत्यनाराय‌ना को भी दिल्ली तलब किया गया, बावर किया जाता है कि वो मंगल को गांधी और दीगर मर्कज़ी क़ाइदीन से मुलाक़ात करेंगे और बातचीत के दौरान उन की तरफ् से 9 अरकान असम्बली को पार्टी से ख़ारिज किए जाने के मुतनाज़ा फ़ैसले पर ख़ुसूसीयत के साथ तबादला-ए-ख़्याल किया जाएगा चूँके चीफ़ मिनिस्टर और सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी दोनों ही सीमा आंध्र इलाके से ताल्लुक़ रखते हैं चुनांचे मर्कज़ी क़ाइदीन चाहते हैं कि इन में से एक ओहदा पर तेलंगाना के क़ाइद को मुक़र्रर किया जाये । इस बात पर भी ग़ौर-ओ-ख़ौज़ किया जा रहा है कि आया एसे किसी इक़दाम से तेलंगाना अवाम के जज़बात को किस हद तक मुतमइन करने में मदद हासिल होगी । इस तनाज़ुर में चंद सयासी तजज़िया निगारये महसूस कररहे हैं रियास्ती हुकूमत या प्रदेश कांग्रेस में बड़े पैमाने पर रद्दोबदल को ख़ारिज अज़ इमकान क़रार नहीं दिया जा सकता ।

TOPPOPULARRECENT