Thursday , December 14 2017

तेलंगाना बिल में वज़ाहत का फ़ुक़दान:चंद्राबाबू

तेलुगु देशम पार्टी के सरबराह और क़ाइद अप्पोज़ीशन एन चंद्राबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल 2013 के महिज़ एक मामूली मुसव्वदा होने या फिर असल बिल होने के बारे में वज़ाहत के फ़ुक़दान पर मर्कज़ और कांग्रेस को अपनी सख़्त तन्क़ीद का न

तेलुगु देशम पार्टी के सरबराह और क़ाइद अप्पोज़ीशन एन चंद्राबाबू नायडू ने आंध्र प्रदेश तंज़ीम जदीद बिल 2013 के महिज़ एक मामूली मुसव्वदा होने या फिर असल बिल होने के बारे में वज़ाहत के फ़ुक़दान पर मर्कज़ और कांग्रेस को अपनी सख़्त तन्क़ीद का निशाना बनाया।

चंद्राबाबू नायडूने कहा कि दिगविजय ( सिंह )ने कहा था कि जो बिल आंध्र प्रदेश असेंबली को भेजी गई है वो मुसव्वदा है। जय राम (रमेश) ने कहा था कि यही असल बिल है।

इस तरह ख़ुद उनके पास ही इस मसले पर कोई वज़ाहत नहीं है और वो दूसरों पर इल्ज़ाम तराशी कररहे हैं। उन्होंने बिल के मौक़िफ़ पर तनाज़ा और इस मसले पर सीनीयर कांग्रेस क़ाइदीन की तरफ से की जाने वाले मुतज़ाद दावें के दरमयान ये रेमार्क किया।

नायडू ने इस बिल पर रियासती असेंबली में जारी बेहस में हनूज़ हिस्सा नहीं लिया है लेकिन आंध्र प्रदेश के चीफ़ मिनिस्टर एन किरण कुमार रेड्डी की तरफ से इस बिल को ग़ैर दस्तूरी क़रार दिए जाने के बाद ये रेमार्क किए हैं।

चंद्राबाबू नायडू ने कहा कि अगर ये बिल चीफ़ मिनिस्टर के क़ौल के मुताबिक़ वाक़ई ग़ैर दस्तूरी है तो उस को फ़िलफ़ौर मर्कज़ के पास वापिस भेज दिया जाना चाहीए। बिहार में भी रियासत की तक़सीम के अमल के दौरान एसा ही किया गया था।

TOPPOPULARRECENT