Monday , December 18 2017

तेलंगाना मसले पर पाँच रियास्तों के चुनाव तक सब्र का मश्वरा

हैदराबाद 6 जनवरी ( सियासत न्यूज़ ) मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज आंधरा प्रदेश कांग्रेस उमूर मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने तेलंगाना के मसला पर उन से मुलाक़ात करने वाले तेलंगाना के वुज़रा को उजलत पसंदी का मुज़ाहरा करने के बजाय 5 रियास

हैदराबाद 6 जनवरी ( सियासत न्यूज़ ) मर्कज़ी वज़ीर-ए-सेहत-ओ-इंचार्ज आंधरा प्रदेश कांग्रेस उमूर मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने तेलंगाना के मसला पर उन से मुलाक़ात करने वाले तेलंगाना के वुज़रा को उजलत पसंदी का मुज़ाहरा करने के बजाय 5 रियास्तों के इंतिख़ाबात तक सब्र करने का मश्वरा दिया। वुज़रा ने उन्हें बताया कि इन का तेलंगाना में घूमना फिरना मुहाल होगया है और कांग्रेस पर से अवाम का एतिमाद ख़तम होरहा है ।

तेलंगाना के वुज़रा ने लीक वेव गेस्ट हाइज़ में ग़ुलाम नबी आज़ाद से मुलाक़ात की और तेलंगाना पर ज़िमनी इंतिख़ाबात से क़बल कोई फ़ैसला करने पर ज़ोर दिया ,वर्ना कांग्रेस पार्टी को नुक़्सानात होने से वाक़िफ़ किराया । कांग्रेस के बावसूक़ ज़राए ने बताया कि वुज़राने तेलंगाना की आम हड़ताल और अवाम में पाई जाने वाली नाराज़गी से उन्हें वाक़िफ़ कराते हुए कहा कि अवाम ख़ामोश हैं , इस का मतलब हरगिज़ ये नहीं है के तेलंगाना तहरीक ख़तम होगई है। 6 जनवरी को एन चंद्रा बाबू नायडू के दौरा वरनगल के मौक़ा पर ज़िला वरनगल बंद मनाने का ऐलान किया गया है । इलाक़ा तेलंगाना में असम्बली के 6 हलक़ों में ज़िमनी इंतिख़ाबात मुनाक़िद होने वाले हैं । वाई ऐस आर कांग्रेस पार्टी ने तेलंगाना जज़बा का एहतिराम करते हुए मुक़ाबला ना करने का ऐलान किया है ।

कांग्रेस पार्टी को जल्द अज़ जल्द फ़ैसला करना चाहीए ,वर्ना हमारा (वुज़रा का) अवाम के दरमयान रहना मुहाल होजाएगा और कांग्रेस पार्टी पर से अवाम का एतिमाद ख़तम होजाएगा । तेलंगाना में कांग्रेस क़ाइदीन टाल मटोल की पालिसी से नाराज़ हैं । हम दिल्ली पहूंच कर पार्टी हाईकमान से मुलाक़ात करना चाहते थे , ताहम उस की भी हम मंज़ूरी नहीं दी गई । मिस्टर ग़ुलाम नबी आज़ाद ने कहा कि कांग्रेस पार्टी तेलंगाना मसला को हल करने केलि एसंजीदा है ,

आंधरा प्रदेश के क़ाइदीन से मुज़ाकरात का दौर मुकम्मल होगया है । जब फ़ैसला लेने का वक़्त आया तो मुल़्क की पाँच रियास्तों के इंतिख़ाबात केलिए आलामीया जारी होगया है जहां इंतिख़ाबात मुनाक़िद होरहे हैं वहां भी छोटी रियास्तों के मुतालिबात हैं , अगर ऐसे में तेलंगाना पर कोई फ़ैसला किया जाता है तो इस के असरात इन रियास्तों पर भी पड़ सकते हैं, इस लिए तेलंगाना के क़ाइदीन थोड़ा सब्र का मुज़ाहरा करें और तब तकइलाक़ा तेलंगाना में पार्टी को इस्तिहकाम करने के साथ साथ तरक़्क़ीयाती कामों को तेज़ करें।

एक मसला को हल करने की कोशिश की जा रही है तो दूसरे कई मसाइल सर उभार रहे हैं । कांग्रेस पार्टी मसला को हल करने केलिए संजीदा है । ग़ुलाम नबी आज़ाद ने तेलंगाना के वुज़रा से क़लमदानों की तक़सीम के बारे में पाई जाने वाली नाराज़गी के बारे में भी वज़ाहत तलब की और तेलंगाना के वुज़रा ने ओहदों की तक़सीम में इलाक़ा तेलंगाना से मुकम्मल इंसाफ़ करने का भी आज़ाद से मुतालिबा किया।

TOPPOPULARRECENT