Monday , December 18 2017

तेलंगाना मुसव्वदा बिल पर अदम मुबाहिस से सीमा आंध्र क़ाइदीन को ही नुक़्सान होगा

टी आर एस के रुकन असेम्बली तारिक़ रामा राव‌ ने सीमा आंध्र अरकान से अपील की कि वो तेलंगाना मुसव्वदा बिल पर असेम्बली में ख़ुशगवार माहौल में मुबाहिस को यक़ीनी बनाईं। अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए रामा राव ने कहा कि अगर मुसव्वदा ब

टी आर एस के रुकन असेम्बली तारिक़ रामा राव‌ ने सीमा आंध्र अरकान से अपील की कि वो तेलंगाना मुसव्वदा बिल पर असेम्बली में ख़ुशगवार माहौल में मुबाहिस को यक़ीनी बनाईं। अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए रामा राव ने कहा कि अगर मुसव्वदा बिल पर मुबाहिस नहीं होंगे तो इस से सीमा आंध्र क़ाइदीन को ही नुक़्सान होगा।

उन्होंने कहा कि सीमा आंध्र क़ाइदीन तेलंगाना बिल के मसले पर टी वी पर मुबाहिस में तो हिस्सा ले रहे हैं लेकिन वो असेम्बली में मुबाहिस के लिए तैयार नहीं। उन्होंने कहा कि अगर बिल पर मुबाहिस ना भी हो तब भी तशकील तेलंगाना के अमल में कोई रुकावट पैदा नहीं होगी। दस्तूरी एतबार से रियासती असेम्बली में बिल पेश किया जा चुका है और अब अरकान अपनी राय ना भी दें तब भी मर्कज़ी हुकूमत को इख़तियार हासिल है कि वो क़तई बिल को मंज़ूरी के लिए पार्लियामेंट में पेश करे।

उन्होंने कहा कि सीमा आंध्र अरकान ग़ैर ज़रूरी तौर पर मुबाहिस को रोकने की कोशिश कररहे हैं ताकि अपने अपने इलाक़ों के अवाम को मुतमइन किया जा सके। उन्होंने कहा कि मुबाहिस में हिस्सा लेते हुए सीमा आंध्र के अरकाने असेम्बली अपने इलाक़े की जरूरतों को पेश करसकते हैं और मुसव्वदा बिल में उनके लिए काबिल एतराज़ हिस्सों के बारे में तरमीमात की सिफ़ारिश करसकते हैं।

अफ़सोस कि सीमा आंध्र के अरकान असेम्बली इस मौक़े को गवा रहे हैं। उन्होंने कहा कि सीमा आंध्र अरकान असेम्बली की जानिब से स्पीकर को तहरीरी तौर पर बिल की मुख़ालिफ़त में मकतूब की रवानगी से कुछ नहीं होगा। रामा राव‌ ने स्पीकर असेम्बली एन मनोहर को मश्वरा दिया कि जिस तरह पार्लियामेंट में लोकपाल बिल की मंज़ूरी के लिए स्पीकर मीरा कुमार ने जो रवैया इख़तियार किया इसी तरह उन मनोहर को भी तेलंगाना बिल की मंज़ूरी को यक़ीनी बनाना चाहिए।

उन्होंने कहा कि असेम्बली इजलास मुल्तवी करने के बजाय मुबाहिस का सिलसिला जारी रखना चाहिए। उन्होंने इल्ज़ाम आइद किया कि सीमा आंध्र अरकान अपनी ताक़त की बुनियाद पर तेलंगाना अरकान की आवाज़ को दबाने की कोशिश कररहे हैं। इसी दौरान एक और रुकन असेम्बली पोचारम श्रीनिवास रेड्डी ने इल्ज़ाम आइद किया कि सीमा आंध्र से ताल्लुक़ रखने वाले अरकान मुबाहिस को रोकने के लिए मंसूबा बंद अंदाज़ में कार्रवाई में रुकावट पैदा कररहे हैं।

उन्होंने चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी और क़ाइद अपोज़िशन चंद्रा बाबू नायडू पर इल्ज़ाम आइद किया कि वो तेलंगाना बिल की पीशकशी के मौक़े पर ऐवान से ग़ैर हाज़िर रहे इस से साफ़ ज़ाहिर है कि दोनों क़ाइदीन ने समझौता करलिया है। श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि दोनों क़ाइदीन की साज़िशों के बावजूद तशकील तेलंगाना में कोई रुकावट पैदा नहीं होगी।

पोचारम श्रीनिवास रेड्डी ने कहा कि सदर जम्हूरिया को 23जनवरी से क़ब्ल किसी भी सूरत में तेलंगाना बिल का मुसव्वदा वापिस किया जाना है और पार्लियामेंट के ख़ुसूसी इजलास या फिर उबूरी बजट की मंज़ूरी के लिए मुनाक़िद होने वाले इजलास में बिल को मंज़ूरी दे दी जाएगी।

TOPPOPULARRECENT