Saturday , December 16 2017

तेलंगाना में इफ़तार की दावतें गंगा जमुनी तहज़ीब की बेहतरीन मिसाल

तेलंगाना में इफ़तार की दावतें गंगा जमुनी तहज़ीब की बेहतरीन मिसाल हैं जिस में मुसलमानों के साथ दीगर अब्ना-ए-वतन भी पूरी अक़ीदत और एहतेराम के साथ हिस्सा लेते हैं।

तेलंगाना में इफ़तार की दावतें गंगा जमुनी तहज़ीब की बेहतरीन मिसाल हैं जिस में मुसलमानों के साथ दीगर अब्ना-ए-वतन भी पूरी अक़ीदत और एहतेराम के साथ हिस्सा लेते हैं।

एससी एसटी बी सी मुस्लिम फ्रंट के ज़ेरे एहतेमाम सईद फंक्शन हॉल सईदाबाद में मुनाक़िदा दावत इफ़्तार के मौक़ा पर मीडिया से बात करते हुए डिप्टी चीफ़ मिनिस्टर अल्हाज मुहम्मद महमूद अली इन ख़्यालात का इज़हार कर रहे थे।

जनाब मुहम्मद महमूद अली ने मीडिया से बात के सिलसिले को जारी रखते हुए कहा कि तेलंगाना हुकूमत रियासत की क़दीम गंगा जमुनी तहज़ीब को बहाल करने का काम कर रही है।

उन्हों ने कहा कि जिस तरह क़ुतुब शाही और आसिफ़ जाहि दौरे हुकूमत में रियासत के तमाम तबक़ात और क़ौमों के साथ यक्साँ सुलूक किया जाता था उसी तरह तेलंगाना राष्ट्रीय समीती भी बहैसीयत हुक्मरान जमात रियासत की अवाम के साथ इंसाफ़ करेगी। उन्हों ने मज़ीद कहा कि हिंदू मुस्लिम नहीं बल्कि अमीर और रग़रीब की बुनियादों पर तेलंगाना हुकूमत काम कर रही है।

जनाब मुहम्मद महमूद अली ने तेलंगाना हुकूमत के वाअदे के मुताबिक़ रियासत के मुसलमानों को बारह फ़ीसद तहफ़्फुज़ात फ़राहम करने का यक़ीन दिलाते हुए कहा कि अंदरून एक साल एक लाख से ज़ाइद सरकारी मुलाज़मतों पर तक़र्रुरात अमल में आ जाऐंगे जिस में मुसलमानो को बारह फ़ीसद तहफ़्फुज़ात के मुताबिक़ मौक़ा फ़राहम किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT