Saturday , December 16 2017

तेलंगाना में ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साईंस के क़ियाम की मसाई

हुकूमत तेलंगाना रियासत में ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साईंस के क़ियाम के सिलसिले में 200 एकड़ अराज़ी की तख़सीस का जायज़ा ले रही है। रियासत तेलंगाना में क़ौमी तालीमी इदारों की मौजूदगी के सबब तेलंगाना को फ़ौरी तौर पर किसी क़ौमी इदारे की ज़रूरत नहीं है लेकिन हुकूमत की जानिब से तेलंगाना में इंडियन स्कूल ऑफ़ मैनेजमेंट (आई आई एम) के क़ियाम के लिए मर्कज़ से मुतअद्दिद नुमाइंदगीयाँ जारी हैं।

चीफ मिनिस्टर तेलंगाना मिस्टर के चन्द्र शेखर राव ने रियासत तेलंगाना में आई आई एम के क़ियाम के लिए तजवीज़ अपने दौरे दिल्ली के दौरान मर्कज़ी वज़ीर बराए फ़रोग़ इंसानी वसाइल मिसिज़ स्मरीती इरानी के हवाले की जब कि उन की दुख़तर मिसिज़ के कवीता रुक्न पार्लीयामेंट निज़ाम आबाद ने भी मिसिज़ इरानी से मुलाक़ात करते हुए तेलंगाना में आई आई एम के क़ियाम की ख़ाहिश की थी।

मर्कज़ी हुकूमत ने जुलाई में मज़कूरा तजवीज़ पर ग़ौर करने का त्यक़्कुन दिया था लेकिन ताहाल हैदराबाद या तेलंगाना में क़ियाम आई आई एम की कोई पेशरफ़्त मुम्किन नहीं हो पाई है।

ज़राए के बामूजिब मर्कज़ी हुकूमत ने ऑल इंडिया इंस्टीट्यूट ऑफ़ मेडिकल साईंस के लिए आम बजट में रक़म भी मुख़तस करदी है और अगर जल्द अज़ जल्द अराज़ी की निशानदेही और हवालगी के बाद ही तामीरी सरगर्मियां शुरू हो सकती हैं और रियासत में एम्स के क़ियाम से हालात में ज़बरदस्त तबदीली की तवक़्क़ो की जा सकती है चूँकि इस से शोबा सेहत में मुसबत तबदीली पैदा होगी।

TOPPOPULARRECENT