Saturday , December 16 2017

तेलंगाना में घरेलू सर्वे की ज़बरदस्त गहमा गहमी

तेलंगाना में 19 अगस्ट् मंगल को आम ज़िंदगी जैसे यकलख़्त थम जाएगी जब नौ तशकील शूदा रियासत में शहरीयों से मुताल्लिक़ आम मालूमात जमा करने के लिए हुकूमत की तरफ़ से तेलंगाना जामि घरेलू सर्वे का आग़ाज़ होगा।

तेलंगाना में 19 अगस्ट् मंगल को आम ज़िंदगी जैसे यकलख़्त थम जाएगी जब नौ तशकील शूदा रियासत में शहरीयों से मुताल्लिक़ आम मालूमात जमा करने के लिए हुकूमत की तरफ़ से तेलंगाना जामि घरेलू सर्वे का आग़ाज़ होगा।

ये एक एसा अमल है जिस पर बाज़ गोशों की तरफ़ से अगरचे तन्क़ीदें भी की जा रही हैं लेकिन हुकूमत ने वाज़िह कर दिया हैके तेलंगाना के हक़ीक़ी मुस्तहिक़ अवाम को फ़लाही इस्कीमात के फ़वाइद पहुंचाने के लिए ये सर्वे किया जा रहा है।

जामि घरेलू सर्वे का आम चुनाव के अमल से तक़ाबुल किया जा रहा है। ये एक बहुत बड़ा अमल होने के बावजूद तेलंगाना के 10 अज़ला में रहने वाले तख़मीनन 84 लाख ख़ानदानों का सिर्फ़ एक दिन में अहाता किया जाएगा।

इस काम में टीचर्स और पुलिस के बिशमोल चार लाख सरकारी मुलाज़िमीन को शामिल किया गया है। रियासती हुकूमत ने सर्वे के मौके पर घरों पर दस्तयाब रहने तमाम शहरीयों की सहूलत के लिए 19 अगस्ट को आम तातील का एलान की है।

आर टी सी सरविस भी बंद रहेगी।होटलों सिनेमा घरों और पैट्रोल पंपस को भी बंद रखने की हिदायत की गई है। तमाम सरकारी-ओ-ख़ानगी तालीमी इदारे अदालतें दफ़ातिर कारोबारी इदारे वग़ैरा भी मंगल को बंद रहेंगे।

यहां मौसूला इत्तेलाआत के मुताबिक़ तमाम ट्रेनस बसें और दुसरे ट्रांसपोर्ट गाड़ियां मुसाफ़िरिन से खचाखच भरी देखी गईं जिन के ज़रीये लाखों अफ़राद सर्वे में तफ़सीलात दर्ज कराने के लिए अपने आबाई मुक़ामात को मुंतक़िल होरहे थे।

इस तरह मुंबई सूरत और दुसरे शहरों में रहने वाले तेलंगाना के अवाम इस अमल में शमूलीयत के लिए अपने आबाई वतन वापिस होरहे हैं । जी एच्च एम सी वेबसाइट पर पेश करदा चैक स्लिप के तहत हर ख़ानदान में अरकान की तादाद बर्क़ी-ओ-आ बरसानी बिलज़ जायदाद टैक्स के रसाइद एलपी जी रसाइद बैंक एकाऊंट आधार कार्ड तारीख़ पैदाइश और ज़ात पात के सदाक़त नामों की नकोलात के अलावा बैंक एकाऊंट नंबर माज़ूरी की तफ़सीलात गाड़ीयों के रजिस्ट्रेशन नंबर जायदाद और अराज़ी की मिल्कियत की तफ़सीलात फ़राहम करने की ख़ाहिश की गई है।

चीफ़ मिनिस्टर के चन्द्रशेखर राव‌ पहले ही वाज़िह करचुके हैंके मतलूब तफ़सीलात की फ़राहमी में अवाम को ख़ौफ़ज़दा होने की ज़रूरत नहीं है। पयान कार्ड इनकम टैक्स तफ़सीलात वग़ैरा के लिए इसरार नहीं किया जाएगा।

TOPPOPULARRECENT