Thursday , December 14 2017

तेलंगाना में जामे ख़ानदानी सर्वे से मामूल की ज़िंदगी यकलख़्त थम गई

हैदराबाद और अज़ला में सन्नाटे जैसा मंज़र , तक़रीबन 4 करोड़ अवाम की तफ़सीलात हासिल करने 4 लाख मुलाज़िमीन की ख़िदमात

हैदराबाद और अज़ला में सन्नाटे जैसा मंज़र , तक़रीबन 4 करोड़ अवाम की तफ़सीलात हासिल करने 4 लाख मुलाज़िमीन की ख़िदमात

मुल्क में अपनी नौईयत के पहले इक़दाम में 19 अगस्त , मंगल को रियासत तेलंगाना में जामे ख़ानदानी सर्वे मुनाक़िद किया गया ताकि सिर्फ़ एक दिन में रियासत के तक़रीबन चार करोड़ अवाम के समाजी और मआशी मौक़िफ़ को मालूम किया जाये। तक़रीबन चार लाख सरकारी मुलाज़िमीन रियासत तेलंगाना के तमाम दस अज़ला बिशमोल हैदराबाद में तक़रीबन एक करोड़ ख़ानदानों को कवर कररहे हैं।

अपोज़िशन की तन्क़ीद और इन इल्ज़ामात के क़ता नज़र कि इस सर्वे का मक़सद हैदराबाद में रहने वाले आंध्र प्रदेश के अवाम को बाहर करना है। तेलंगाना राष़्ट्र समीती ने तफ़सीलात हासिल करने के लिए एक जामि सर्वे मुनाक़िद करने का फ़ैसला किया जिस पर आज अमल किया गया।

हुकूमत ने वज़ाहत की कि अवाम से उनकी मालूमात हासिल करते हुए वो फ़लाही स्कीमात के हक़ीक़ी इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान की निशानदेही करना और बोग्स को ख़त्म करना चाहती है। ये सर्वे पूरी रियासत तेलंगाना में मंगल के दिन सुबह 7 बजे शुरू हुआ। इस में शुमार कुनिंदे घर घर जाकर अवाम से उनकी तफ़सीलात हासिल कीं।

जैसे नाम , उमर , तालीमी क़ाबिलीयत , पेशा , आधार कार्ड नंबर्स , बंक अकाउंट नंबर , जायदाद और दीगर तफ़सीलात। सर्वे का ये अमल शाम 7 बजे तक जारी रहा। ग्रेटर हैदराबाद म्यूनसिंपल कारपोरेशन में 75 हज़ार सरकारी मुलाज़मीन ने 20 लाख ख़ानदानों की तफ़सीलात हासिल करने का काम अंजाम दिया।

बाअज़ हलक़ों में ज़ाहिर किए गए इन अंदेशों के बरअक्स , कि इस सर्वे का मक़सद हैदराबाद में रहने वाले आंध्र प्रदेश के अवाम को निशाना बनाना है । सर्वे फ़ार्म में वतनियत का कोई कालम नहीं रखा गया हती कि बंक अकाउंट नंबर देना भी इख़तियारी है। चूँकि हुकूमत ने इस सर्वे में हिस्सा लेने के लिए अवाम को उनके घरों पर रहने में सहूलत की ख़ातिर सर्वे के दिन तातील का ऐलान किया।

इस लिए पूरी रियासत तेलंगाना में आम ज़िंदगी गोया रुक सी गई थी। शॉप्स , पेट्रोल बनकस , होटल्स , सिनेमा घर , तिजारती इदारे , कंपनीज़ , फ़ैक्ट्रीज़ और तालीमी इदारे बंद रहे। आर टी सी बसें सड़कों से ग़ायब रहें।

TOPPOPULARRECENT