Tuesday , December 12 2017

तेलंगाना में फ़ीस बाज़ अदायगी और स्कॉलरशिप्स का मसअला दर्पेश

हुकूमत तेलंगाना की जानिब से फ़ीस बाज़ अदायगी और स्कॉलरशिप की इजराई के लिए तैयार कर्दा नई स्कीम फ़ास्ट के रहनुमायाना ख़ुतूत ताहाल तैयार नहीं हो पाए हैं और साबिक़ में फ़ीस बाज़ अदायगी के जो बकायाजात कॉलेज इंतेज़ामीया को अदा शुदणी है

हुकूमत तेलंगाना की जानिब से फ़ीस बाज़ अदायगी और स्कॉलरशिप की इजराई के लिए तैयार कर्दा नई स्कीम फ़ास्ट के रहनुमायाना ख़ुतूत ताहाल तैयार नहीं हो पाए हैं और साबिक़ में फ़ीस बाज़ अदायगी के जो बकायाजात कॉलेज इंतेज़ामीया को अदा शुदणी हैं उन की अदायगी के सिलसिले में हुकूमत का रवैय्या नाक़ाबिले फ़हम है।

चीफ़ मिनिस्टर तेलंगाना मिस्टर के चंद्रशेखर राव ने के जी ता पी जी मुफ़्त तालीम की फ़राहमी के एलानात किए थे और इंतिख़ाबात में कामयाबी के हुसूल के बाद ये एलान किया कि के जी ता पी जी मुफ़्त तालीम के मंसूबा को काबिले अमल बनाने के लिए एक साल की मुद्दत दरकार है और आइन्दा बरस से हुकूमत इस मंसूबा को काबिले अमल बनाएगी।

हुकूमत की जानिब से फ़ीस बाज़ अदायगी के बक़ायाजात की अदमे अदाइगी के सबब जो सूरते हाल पैदा हुई है वो बतदरीज इंतिहाई अबतर होती जा रही है और गुज़िश्ता यौम एक ख़ान्गी इंजिनीयरिंग कॉलेज के पार्टनर ने सरमायाकारी से मुनाफ़ा हासिल ना होने और सरमाया कारी के लिए अदा कर्दा 25 लाख रुपये की अदम वसूली पर ख़ुदकुशी करली है।

ओहदेदारों का कहना हैकि स्कॉलरशिपस और फ़ीस बाज़ अदायगी की दरख़ास्तों के इदख़ाल की तारीख़ का एलान उस वक़्त तक मुम्किन नहीं जब तक हुकूमत की जानिब से क़तई तौर पर फ़ास्ट स्कीम के लिए रहनुमायाना ख़ुतूत की इजराई अमल में नहीं लाई जाती।

TOPPOPULARRECENT