Friday , December 15 2017

तेलंगाना में फ़ीस रिअम्बर्समेंट स्कीम जारी रखने का फ़ैसला

तेलंगाना हुकूमत ने एससी , एसटी , बी सी और अक़लियती तलबा के लिए फ़ीस रिअम्बर्समेंट स्कीम जारी रखने का फ़ैसला किया है।

तेलंगाना हुकूमत ने एससी , एसटी , बी सी और अक़लियती तलबा के लिए फ़ीस रिअम्बर्समेंट स्कीम जारी रखने का फ़ैसला किया है।

चीफ़ मिनिस्टर चन्द्रशेखर राव‌ ने इस मसले पर कुल जमाती मीटिंग तलब किया, जिस में मुत्तफ़िक़ा तौर पर इस इस्कीम को बरक़रार रखने का फ़ैसला किया गया।

हुकूमत ने फ़ैसला किया कि वो सिर्फ़ तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा पर ये इस्कीम अमल करेगी जबकि सीमांध्र से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा की फ़ीस हुकूमत आंध्र प्रदेश को अदा करनी होगी।

तेलंगाना हुकूमत ने फ़ैसला किया कि आंध्र प्रदेश में ज़ेरे तालीम तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा की तालीमी फ़ीस भी वो अदा करेगी।

चीफ़ मिनिस्टर ने अपोज़ीशन क़ाइदीन को इस्कीम पर अमल आवरी के तरीका-ए-कार से वाक़िफ़ किराया और कहा कि हुकूमत का मक़सद तेलंगाना तलबा का तहफ़्फ़ुज़ करना है और इस इस्कीम को जारी रखते हुए उनके तालीमी मुस्तक़बिल का तहफ़्फ़ुज़ किया जाएगा।

मीटिंग में शरीक तमाम जमातों ने हुकूमत के इस मौक़िफ़ से इत्तिफ़ाक़ किया कि तेलंगाना हुकूमत और आंध्र प्रदेश हुकूमत को अपनी अपनी रियासतों से ताल्लुक़ रखने वाले तलबा की फ़ीस अदा करनी चाहीए।

साबिक़ में जिन क़वाइद के तहत इस स्कीम पर अमल किया जा रहा था , उन्ही को बरक़रार रखा जाएगा और तालीमी सर्टीफिकट की बुनियाद पर उम्मीदवार के मुक़ामी होने का ताय्युन किया जाएगा जबकि इनकम सर्टिफिकेट की बुनियाद पर इस्तिफ़ादा कुनुन्दगान का इंतिख़ाब होगा।

मीटिंग के बाद अख़बारी नुमाइंदों से बातचीत करते हुए वज़ीर-ए-ताअलीम जगदीश रेड्डी ने कहा कि फ़ीस रिअम्बर्समेंट स्कीम के बारे में तलबा-ए-को फ़िक्रमंद होने की कोई ज़रूरत नहीं है।

TOPPOPULARRECENT