तेलंगाना में मुस्लिम कार्ड खेल रही कांग्रेस !

तेलंगाना में मुस्लिम कार्ड खेल रही कांग्रेस !

मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ और राजस्थान विधानसभा चुनाव में कांग्रेस ‘सॉफ्ट हिंदुत्व’ की रणनीति अपना रही है, पर पार्टी तेलंगाना में खुलकर मुस्लिम कार्ड खेल रही है। चुनाव प्रचार के दौरान पार्टी खुलकर मुसलमानों से जुड़े मुद्दे उठाते हुए मुख्यमंत्री चंद्रशेखर राव को घेर रही है।.

पार्टी ने अपने तमाम मुस्लिम नेताओं को तेलंगाना में तैनात कर रखा है। पार्टी एआईएमआईएम अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी को घेरने में भी कसर नहीं छोड़ रही। तेलंगाना में मुस्लिम मतदाताओं की तादाद करीब साढ़े बारह फीसदी है और विधानसभा की करीब चालीस सीट पर मुस्लिम मतदाताओं की तादाद अच्छी खासी है। ऐसे में कोई भी पार्टी मुस्लिम मतदाताओं को दरकिनार नहीं कर सकती। वहीं, कांग्रेस का सीधा मुकाबला एआईएमआईएम से है। हैदराबाद और उसके आसपास के इलाकों में असदुद्दीन ओवैसी की पार्टी एआईएमआईएम का अच्छा असर है। ऐसे में मुस्लिम वोटरों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता है।.

चंद्रशोखर राव और ओवैसी को घेरने की कोशिश
चुनाव प्रचार से जुड़े कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने कहा कि तेलंगाना विधानसभा चुनाव में मुस्लिम मतदाताओं का रुख निर्णायक साबित हो सकता है। इसलिए पार्टी खुलकर उनसे जुड़े मुद्दे उठाते हुए मुख्यमंत्री के चंद्रशेखर राव और एआईएमआईएम के नेता ओवैसी को घेर रही है। चुनाव प्रचार में ये मुद्दे उठाने को लेकर तेलंगाना में कोई डर भी नहीं है। टीआरएस और एआईएमआईएम भी इस रणनीति पर अमल रही है। तेलंगाना में भारतीय जनता पार्टी की स्थिति बहुत मजबूत नहीं है। ऐसे में इसके नकारात्मक असर की भी कोई आशंका नहीं है। .

मुस्तिम आबादी का 1.7 फीसदी हिस्सा हैदराबाद में 
तेलंगाना सोशल डेवलपमेंट रिपोर्ट के मुताबिक, तेलंगाना की कुल मुस्लिम आबादी का करीब 1.7% हिस्सा अकेले हैदराबाद और आसपास के क्षेत्रों में रहता है। एआईएमआईएम के मजबूत होने की बड़ी वजह भी यही है। इसलिए, कांग्रेस हैदराबाद सहित लगभग सभी मुस्लिम बहुल सीट पर चुनाव लड़ते हुए अपनी मौजूदगी का अहसास कराने की कोशिश कर रही है। पार्टी को यकीन है कि वह मुस्लिम मतदाताओं को भरोसा जीतने में कामयाब रहेगी और इसका असर नतीजों पर भी पड़ेगा

साभार- हिंदुस्तान

Top Stories