Monday , December 18 2017

तेलंगाना सर्वे मुसलमानों की अददी क़ुव्वत के मुज़ाहरा के लिए एहमीयत का हामिल

हुकूमत की तरफ् से करवाया जाने वाला सर्वे इंतिहाई एहमीयत का हामिल है। इस सर्वे में तमाम मुसलमानों को हिस्सा लेते हुए अपनी इजतिमाईयत के अलावा अददी ताक़त का मुज़ाहरा करने की ज़रूरत है।

हुकूमत की तरफ् से करवाया जाने वाला सर्वे इंतिहाई एहमीयत का हामिल है। इस सर्वे में तमाम मुसलमानों को हिस्सा लेते हुए अपनी इजतिमाईयत के अलावा अददी ताक़त का मुज़ाहरा करने की ज़रूरत है।

नौ तशकील शूदा रियासत तेलंगाना में मुसलमानों के मौक़िफ़ के अलावा उनकी समाजी-ओ-मआशी हालत के इज़हार के लिए ये ज़रूरी है कि वो सर्वे में हिस्सा लेते हुए तफ़सीलात से शुमार कुनुन्दगान को वाक़िफ़ करवाईं।

ज़ाहिद अली ख़ान एडीटर रोज़नामा सियासत ,सय्यद विक़ारुद्दीन कादरी एडीटर इनचीफ़ रहनमाए दक्कन, मलिक मोतसिम ख़ान , हामिद मुहम्मद ख़ान , मौलाना हबीब अबदुर्रहमान, मौलाना सय्यद तारिक़ कादरी , अबदुलक़ादिर कादरी वहीद पाशाह ,के अलावा दुसरे मोअज़्ज़िज़ीन ने मुसलमानों से अपील की है के वो इस सर्वे का हिस्सा बनने में ताम्मुल ना करें।

इन ज़िम्मा दाराना मिल्लत-ए-इस्लामीया ने बुज़ुर्गों और नौजवानों से ख़ाहिश की हैके वो हर फ़र्द के इंदिराज को यक़ीनी बनाईं ताके मुस्तक़बिल में हुकूमत की इस्कीमात फ़लाही-ओ-तरक़्क़ीयाती इक़दामात में अक़लियतों की हिस्सादारी के मुताल्लिक़ हुकूमत को मुतवज्जा करवाया जा सके।

TOPPOPULARRECENT