Monday , December 18 2017

तेलगू देशम और वाई ऐस आर कांग्रेस को पसमांदा तबक़ात की फ़िक्र नहीं

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्य नारायना ने रियासत में पसमांदा तबक़ात और अक़ल्लीयतों के बशमोल दीगर तबक़ात को आबादी के तनासुब से इंतिख़ाबात में नशिस्तें(सीटें) मुख़तस करने का चैलेंज किया। उन्हों ने बर्क़ी(बिजली) मसाइ लका एतरा

सदर प्रदेश कांग्रेस कमेटी बी सत्य नारायना ने रियासत में पसमांदा तबक़ात और अक़ल्लीयतों के बशमोल दीगर तबक़ात को आबादी के तनासुब से इंतिख़ाबात में नशिस्तें(सीटें) मुख़तस करने का चैलेंज किया। उन्हों ने बर्क़ी(बिजली) मसाइ लका एतराफ़ करते हुए तेलगू देशम के चीफ़ मिनिस्टर के ऑफ़िस में मुनाक़िदा एहतिजाज की मुज़म्मत की।

प्रैस कान्फ़्रैंस से ख़िताब करते हुए उन्हों ने सयासी फ़ायदा उठाने तेलगूदेशम ने जहां बी सी डिक्लेरेशन का ऐलान करते हुए बी सी तबक़ात के लिए असेंबली की सौ नशिस्तें(सीटें) मुख़तस करने का ऐलान किया, वहीं तेलगूदीशम पर सबक़त हासिल करने वाई ऐस आर कांग्रेस की एज़ाज़ी सदर वजया अम्मां ने क़ुरआ अंदाज़ी के ज़रीया बी सी तबक़ात को सौ नशिस्तें(सीटें) देने की पेशकश की। जबके हक़ीक़त ये है कि दोनों जमातों को बी सी तबक़ात और उन के मसाइल से कोई हमदर्दी नहीं है,

सिर्फ सयासी मफ़ाद के लिए बी सी तबक़ात को लुभाने की कोशिश की जा रही है। । उन्हों ने सहाफ़ीयों से सवाल किया कि क़ियादत की तबदीली आख़िर क्यों की जाय?। इस के इलावा हमें पार्टी सदर सोनीया गांधी ने नामज़द किया है,

अगर हमारी जगह किसी दूसरे क़ाइद का इंतिख़ाब करती हैं तो हम उन के साथ तआवुन करेंगे। सोनीया गांधी की जानिब से पार्टी क़ाइदीन को वस्त मुद्दती इंतिख़ाबात के लिए तैय्यार रहने का मश्वरा देने के बारे में सवाल का जवाब देते हुए उन्हों ने कहा कि पार्टी सदर का जो भी फ़ैसला होगा, हम तैय्यार हैं।

उन्हों ने कहा कि तेलगू देशम ये भूल रही है कि आज ही के दिन 12 साल क़बल बर्क़ी(बिजली) बिल में इज़ाफ़ा से दस्त बर्दारी के लिए एहतिजाज करने वाले अवाम पर तेलगू देशम हुकूमत ने बशीर बाग़ पर पुलिस को गोलीयां चलाने का हुक्म दिया था, जिस में तीन अफ़राद की हलाकत के इलावा कई अफ़राद ज़ख़मी भी हुए थे। पुलिस ने बेतहाशा लाठी चाज की थी और अज़ला में एहितजाजी किसानों को जेल भेज दिया था। उन्हों ने कहा कि रियासत के बर्क़ी(बिजली) मसाइल का उन्हें और चीफ़ मिनिस्टर को एतराफ़ है,

जिस पर क़ाबू पाने और दूसरी रियास्तों से ज़ाइद बर्क़ी(बिजली) हासिल करने हुकूमत बड़े पैमाने पर इक़दामात कर रही है।

TOPPOPULARRECENT