Tuesday , December 19 2017

तेल की क़ीमतों में कमी के लिए सऊदी साज़िश का इल्ज़ाम मुस्तरद

सऊदी अरब के वज़ीरे तेल अली अल नईमी ने आज कहा कि उन्हें इस बात का पूरा यक़ीन है कि तेल की आलमी क़ीमतों में हालिया कमी के बाद बहुत जल्द बेहतरी पैदा होगी।

सऊदी अरब के वज़ीरे तेल अली अल नईमी ने आज कहा कि उन्हें इस बात का पूरा यक़ीन है कि तेल की आलमी क़ीमतों में हालिया कमी के बाद बहुत जल्द बेहतरी पैदा होगी।

क़ीमतों में इस कमी के लिए उन्हों ने इस कमी के लिए तेल पैदा और बरामद करने वाले मुल्कों की तंज़ीम ओपेक से बाहर रहने वाले रुक्न ममालिक में तआवुन के फ़ुक़दान को भी जुज़वी तौर पर मौरिदे इल्ज़ाम ठहराया।

मिस्टर अली अल नईमी ने अबूज़हबी में तवानाई के एक फ़ोरम से ख़िताब करते हुए कहा कि मुझे यक़ीन है कि तेल के (आलमी) मार्किट में बेहतरी पैदा होगी और तेल की क़ीमतों में बेहतरी पैदा होगी।

उन्हों ने कहा कि क़ीमतों में ज़बरदस्त कमी जुज़वी तौर पर तेल पैदा करने वाले ऐसे बड़े ममालिक के माबैन तआवुन के फ़ुक़दान का नतीजा भी है जो (ममालिक) ओपेक में शामिल नहीं हैं।

अल नईमी ने जिन का मुल्क ओपेक अरकान में तेल पैदा करने वाला सब से बड़ा मुल्क है कहा कि ओपेक से बाहर रहने वाले तेल पैदा और बरामद करने वाले ममालिक नई महफ़ूज़ और मुंसिफ़ाना क़ीमतों के लिए तआवुन की अहमीयत को महसूस करेंगे।

TOPPOPULARRECENT