Monday , December 18 2017

तक़सीम रियासत के बाद सियासी जमाअतें हिक्मत-ए-अमली की तैयारी में मसरूफ़

आंध्र प्रदेश की तक़सीम अब जबकि हक़ीक़त बन गई है रियासत में सियासी जमाअतें लोक सभा और असेंबली चुनाव के पेशे नज़र अपनी हिक्मत इमलियों में हालात के मुताबिक़ तब्दीलियां कर रही हैं।

आंध्र प्रदेश की तक़सीम अब जबकि हक़ीक़त बन गई है रियासत में सियासी जमाअतें लोक सभा और असेंबली चुनाव के पेशे नज़र अपनी हिक्मत इमलियों में हालात के मुताबिक़ तब्दीलियां कर रही हैं।

आंध्र प्रदेश में सदर राज नाफ़िज़ करदिया गया है क्यूंकि चीफ मिनिस्टर की हैसियत से किरण कुमार रेड्डी ने अपने ओहदे और कांग्रेस पार्टी की रुकनीत से स्तीफ़ा पेश करदिया है और कांग्रेस के कई अरकाने असेंबली भी पार्टी से अलाहिदगी इख़तियार कर रहे हैं।

तेलंगाना की तशकील का सहरा अपने सर लेने की कोशिश करते हुए बरसर-ए-इक्तदार कांग्रेस पार्टी इलाके में को उम्मीद हैके इलाके में उसे शानदार कामयाबी मिल सकती है।

इस इलाके में लोक सभा की 17 और असेंबली की 119 नशिस्तें हैं। कांग्रेस के अरकाने असेंबली अरकाने पार्लियामेंट और साबिक़ा किरण कुमार रेड्डी हुकूमत के तेलंगाना से ताल्लुक़ रखने वाले वुज़रा इलाके में कामयाबी की रैलियां मुनाक़िद कर रहे हैं और वो तेलंगाना बिल की पार्लियामेंट में मंज़ूरी के लिए सोनिया गांधी से इज़हारे तशक्कुर कर रहे हैं।

कांग्रेस को उम्मीद हैके इलाके में ताक़तवर मौक़िफ़ रखने वाली टी आर एस कांग्रेस में ज़म होजाएगी। ताहम दोनों जमातों के माबेन ताल्लुक़ात कशीदा होगए हैं टी आर एस का इल्ज़ाम हैके कांग्रेस उनकी पार्टी के कुछ क़ाइदीन को लालच दे कर अपनी सफ़ों में शामिल कर रही है।

कांग्रेस में टी आर एस के इंज़िमाम का मसला इमकान हैके जारीया हफ़्ते हल होजाएगा जबकि कल टी आर एस की एक अहम मीटिंग होने वाली है। यह टी आर एस कांग्रेस में ज़म होजाएगी यह फिर इमकान है कि दोनों में इत्तिहाद होगा।

TOPPOPULARRECENT