Friday , December 15 2017

तक़सीम रियासत पर सुप्रीम कोर्ट का हुक्म इल्तवा से इनकार ख़ुश आइंद

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने रियासत की तक़सीम को चैलेंज करते हुए मुत्तहदा आंध्र के हामीयों की जानिब से दायर कर्दा दरख़ास्तों पर हुक्म इल्तवा देने से सुप्रीम कोर्ट के इनकार का ख़ैर मक़दम किया है। टी आर एस के डिप्टी फ़्लोर लीडर हरीश र

तेलंगाना राष़्ट्रा समीती ने रियासत की तक़सीम को चैलेंज करते हुए मुत्तहदा आंध्र के हामीयों की जानिब से दायर कर्दा दरख़ास्तों पर हुक्म इल्तवा देने से सुप्रीम कोर्ट के इनकार का ख़ैर मक़दम किया है। टी आर एस के डिप्टी फ़्लोर लीडर हरीश राव ने कहा कि सुप्रीम कोर्ट की जानिब से हुक्म इल्तवा से इनकार ख़ुश आइंद है।

उन्हों ने इल्ज़ाम आइद किया कि साबिक़ चीफ़ मिनिस्टर किरण कुमार रेड्डी और सीमा आंध्र के दीगर क़ाइदीन अदालती कार्रवाई की आड़ में सियासी मैदान में क़दम रखना चाहते हैं। उन्हों ने अदालत के इस इक़दाम को मुत्तहदा आंध्र के हामीयों के लिए एक सबक़ क़रार दिया जो मुसलसल इस बात की कोशिश कर रहे हैं कि रियासत की तक़सीम को किसी तरह रोका जाए।

उन्हों ने कहा कि साबिक़ में भी सुप्रीम कोर्ट में रियासत की तक़सीम के ख़िलाफ़ कई दरख़ास्तें दाख़िल की गई थीं और अदालत ने इन दरख़ास्तों को मुस्तरद कर दिया था। हरीश राव ने कहा कि मर्कज़ी हुकूमत ने क़ानूनी और दस्तूरी दायरा के तहत ही रियासत की तक़सीम का अमल मुकम्मल किया है और उन्हें उम्मीद है कि अदालत इस फ़ैसला की राह में रुकावट नहीं बनेगी।

उन्हों ने कहा कि नई रियासत तेलंगाना की तामीरे नव में टी आर एस का अहम रोल होगा, और अवाम से किए गए वादों की तकमील पर ख़ुसूसी तवज्जा मर्कूज़ की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT