Saturday , September 22 2018

दक्षिण चीन सागर में अमेरिका की नहीं चलने देंगे – चीन

अमेरिका पर दक्षिण चीन सागर विवाद में उतरकर ‘बिल्कुल विध्वंसकारी भूमिका’ निभाने का आरोप लगाते हुए एक प्रमुख चीनी दैनिक ने कहा कि अमेरिका ने इस क्षेत्र में कदम रखने के लिए ‘गलत दुश्मन’ का चयन किया है और चीन उसे अपनी नहीं चलाने देगा।

सत्तारूढ़ कम्युनिस्ट पार्टी के आधिकारिक मुखपत्र ‘पीपुल्स डेली’ ने अपनी टिप्पणी में लिखा है, ‘सैन्य ताकत के प्रदर्शन के मार्फत सुरक्षा के बारे में तथाकथित संदेश देना और घटनाक्रमों को प्रतिरोध का कृत्य बताना कुछ ऐसी चीज है जिसे अमेरिका ने कई बार किया है।’

अखबार ने लिखा, ‘भले ही अमेरिका ने दुनिया के अन्य हिस्सों में आसानी से कितनी भी बार शक्ति प्रदर्शन किया हो लेकिन इस बार उसने इस तरह के खेल के लिए चीन का चयन कर गलत दुश्मन चुन लिया है। इन सभी के पीछे धैर्य की कमी और ढीठपन है तथा इससे अंदर की बात वर्चस्व की प्रकृति का भी खुलासा होता है।’

उसने कहा, ‘अमेरिकी सेना के शीर्ष अधिकारियों के बयान और विमान वाहक अभ्यास खुद ही एक बार प्रदर्शित करते हैं कि अमेरिका कोई क्षेत्रीय सुरक्षा प्रदाता नहीं है बल्कि निश्चित ही, एक समस्या खड़ा करने वाला तत्व है। दक्षिण चीन समुद्र के संबंध में, अमेरिका बहुत ही विध्वंसकारी भूमिका निभा रहा है।’

उसने कहा, ‘चीन समुद्री क्षेत्र की दशाओं पर कड़ी निगरानी बनाए रखेगा और वहां कोई भी घटना हो, वह उपयुक्त कदम उठाएगा तथा चीन की क्षेत्रीय संप्रभुता या उसके सुरक्षा लाभों को नुकसान पहुंचाने वाली स्थितियों के खिलाफ अपना बचाव करेगा।’

उसने चेतावनी दी कि चीन दूसरे देशों को अपनी मनमर्जी नहीं करने देगा और दक्षिण चीन सागर के स्थायित्व के सिलसिले में नियमों का उल्लंघन नहीं करने देगा। दक्षिण चीन सागर में चीन का वियतनाम, फिलीपिंस, मलेशिया, ब्रूनेई और ताईवान के साथ समुद्री विवाद है। चीन छोटे देशों को इस सागर में अपने अधिकारों को बल देने के लिए अमेरिका से मिल रहे समर्थन से चिंतित है।

TOPPOPULARRECENT