Friday , December 15 2017

दरगाह में खातून को घसीटने वाला सस्पेंड, दूसरे की नौकरी गई

ख्वाजा अजमेरी रह० की दरगाह में एक जायरीन खातून को बाल पकड़ कर घसीटने के मामले में दरगाह कमेटी के दो मुलाज़िम पर गाज गिरी है | दरगाह कमेटी सदर मोहम्मद ओबेदुल्ला शरीफ की हिदायत पर एक मुश्तकिल मुलाज़िम अनीश को सस्पेंड किया गया है जबक

ख्वाजा अजमेरी रह० की दरगाह में एक जायरीन खातून को बाल पकड़ कर घसीटने के मामले में दरगाह कमेटी के दो मुलाज़िम पर गाज गिरी है | दरगाह कमेटी सदर मोहम्मद ओबेदुल्ला शरीफ की हिदायत पर एक मुश्तकिल मुलाज़िम अनीश को सस्पेंड किया गया है जबकि दूसरे आराजी मुलाज़िम शाहनवाज को नौकरी से निकाल दिया गया है |

दरगाह नाजिम डॉ. अंसार अहमद ने जुमे की देर शाम यह हुक्म जारी करवाए हैं | हालांकि आखिरी तक वह मुलाज्मीन की हिमायत करते रहे . दरगाह में झालरे पर बैठी एक जायरीन खातून को जुमेरात के दिन दरगाह कमेटी के दो मुलाज़्मीन बेरहमी से घसीटकर दरगाह के बाहर तक ले गए | उनमें से एक ने खातून का हाथ पकड़ा और दूसरे ने बाल पकड़ कर उसे घसीटा | जिसने भी यह मंजर देखा, होश उड़ गये |

मामला मीडिया में उजागर होने के बाद दरगाह के कुछ खादिमों ने गुस्सा जाहिर करते हुए इसे ख्वातीन पर ज़ुल्म बताया | उन्होंने दरगाह नाजिम से लिखित में शिकायत कर मुलाज़्मीन के खिलाफ कार्रवाई की मांग भी की | हालांकि नाजिम ने कोई कार्रवाई नहीं की |

जुमे की शाम को मामला कमेटी सदर के पास पहुंचा तो उन्होंने नाजिम को फोन पर खाती मुलाज़्मीन को सस्पेंड करने के हुक्म् दिये | इसके बाद नाजिम ने सस्पेंड के हुक्म निकाले | नाजिम के मुताबिक मुल्ज़िम अनीश कमेटी का मुस्तकिल मुलाज़िम कर्मचारी है, उसे सस्पेंड किया गया है. वहीं अराज़ी मुलाज़िम शाहनवाज को नौकरी से हटा दिया गया है |

महिला आयोग की सदर लाडकुमारी जैन ने बताया कि दरगाह कमेटी और पुलिस इंतेज़ामिया से मामले में जवाब-तलब किया जाएगा | जैन का कहना है कि मज़हबी मुकाम पर बुजुर्ग खातून के साथ इस तरह की बदसुलूकी बहुत बड़ी बात है |

बुजुर्गो को मज़हबी मुकामात पर तहफ्फुज़ मिलता है | मामले की मालूमात हासिल होते ही उन्होंने दरगाह कमेटी और पुलिस इंतेज़ामिया के नाम खत तैयार करवा लिए | हफ्ते के रोज़ यह खत जारी होंगे जैन ने कहा कि बुजुर्ग को तहफ्फुज़ मुहैया करना पुलिस का काम है | दरगाह कमेटी कर्मचारियों को इस तरह से जायरीन के साथ पेश नहीं आना चाहिए | साथ ही दरगाह कमेटी को खातून मुलाज़िम रखना चाहिए |

दरगाह नाजिम डॉ. अंसार अहमद इन दिनों सवाई माधोपुर में हैं | यहां से मिली इत्तेला की बुनियाद पर नाजिम का कहना था कि मुलाज़्मीन ने कुछ गलत नहीं किया | खातून दरगाह के अहाते में गंदगी फैला रही थी, कुछ खादिमों के कहने पर मुलाज़्मीन ने खातून महिला को दरगाह से बाहर निकाला |

बाद में शाम को कमेटी सदर ने उन्हें फोन करके कहा कि किसी भी खातून के साथ इस तरह बेरहमी से पेश आना गलत है, जिसने भी ऐसा किया है, उसे सस्पेंड करना चाहिए | इसके बाद नाजिम ने अपने ज़ाती असिस्टेंट मोहम्मद सिद्दीक को सस्पेंड लेटर निकालने के लिए कहा | इस् हुक्मनामे में लिखा गया है कि खातून को दरगाह से बाहर निकालने के लिए मुलाज़िम को पुलिस की मदद लेनी चाहिए था ||

TOPPOPULARRECENT