Saturday , August 18 2018

दरभंगा में 14 साल की मुस्लिम लड़की का अपहरण, 10 दिनों में पुलिस अबतक सुराग़ नहीं लगा पाई

बिहार के दरभंगा ज़िले के बाढ़ समैला गांव में 14 साल की एक लड़की का पिछले दिनों अपहरण कर लिया गया लेकिन स्थानीय पुलिस अभी तक मामले का कोई सुराग़ नहीं लगा पाई है।

टू सर्किल डॉट नेट से बात करते हुए अपहरण हुई लड़की रिजवाना खातुन के दादा मोहम्मद जुबैर ने पुलिस पर आरोप लगाते हुए कहा कि मेरी पोती का 11 नवंबर को हमारे समैला गांव से अपहरण कर लिया गया। हमने 13 तारीख़ को ही केवटी थाना में एफ़आईआर दर्ज कराई। कल एसडीओ साहब आए और हमसे पूछताछ की, लेकिन जिन लड़कों ने मेरी पोती का अपहरण किया है, उसके परिवार से कोई पूछताछ नहीं किया। उन्होंने कहा कि लगता है पुलिस उनकी तरफ़ से पैसा खा लिया है। हम गरीब लोग हैं, पुलिस को देने के लिए हमारे पास कहां पैसा है।

जुबैर बताते हैं कि उनका परिवार बेहद गरीब है। खेतों में मजदूरी करके किसी तरह से उनका चुल्हा जलता है। उन्होंने कहा कि 11 तारीख़ को करीब 4 बजे शाम को रिज़वाना चुल्हा जलाने के लिए बग़ल के खेतों में पत्ता चुनने गई और आज तक घर लौट कर नहीं लौटी। उन्होंने कहा कि मेरी पोती ही पत्ता चुनकर लाती थी। उन्होंने बताया कि शाम में जब रिजवाना नहीं लौटी, तो घर वालों ने तलाशना शुरू किया। इसी दौरान गांव एक बच्चे ने बताया कि बग़ल के गांव के दो लड़के ज़बरदस्ती उसे बाईक पर उठाकर लेकर गए। उन्होंने उसका मुंह बांध रखा था।

जुबैर का आरोप है कि उनकी पोती का अपहरण पास के मानपुर गांव के दो पासवान लड़कों ने किया है। उन्होंने बताया कि उन लड़कों पर पहले से भी अपहरण के कई मामले दर्ज है। और इस 12 साल के लड़के ने भी उनको अपहरण करते देखा है।

टू सर्किल डॉट नेट के मुताबिक जब उन्होंने केवटी थाना के थानाध्यक्ष सीताराम प्रसाद से बात की तो पुलिस अपने उपर लगे आरोपों को सिरे से खारिज कर दिया। थानाध्यक्ष ने बताया कि इस संबंध में एफ़आईआर दर्ज कर ली गई है। पुलिस छानबीन कर रही है। अभी तब इस मामले में कोई सुराग़ नहीं मिला है, मिलते ही आगे की कार्यवाई की जाएगी।

TOPPOPULARRECENT