दवाख़ाना निमस में बड़े पैमाने पर बे क़ाईदगीयाँ

दवाख़ाना निमस में बड़े पैमाने पर बे क़ाईदगीयाँ

हैदराबाद।22 जनवरी (सियासत न्यूज़) निज़ाम चियार टेबल ट्रस्ट ने रियासती हुकूमत और ट्रस्ट के दरमियान तनाज़ा की यकसूई के लिए मुसालहत कार के तक़र्रुर की दरख़ास्त करते हुए हाईकोर्ट से रुजू हुआ है। चीफ जस्टिस मिस्टर मुदुन बी लोकोर के इ

हैदराबाद।22 जनवरी (सियासत न्यूज़) निज़ाम चियार टेबल ट्रस्ट ने रियासती हुकूमत और ट्रस्ट के दरमियान तनाज़ा की यकसूई के लिए मुसालहत कार के तक़र्रुर की दरख़ास्त करते हुए हाईकोर्ट से रुजू हुआ है। चीफ जस्टिस मिस्टर मुदुन बी लोकोर के इजलास में समाअतके लिए आने वाली दरख़ास्त में ट्रस्टी ने कहा कि निमस के नज़म-ओ-नसक़ में बड़े पैमाना पर ख़िलाफ़ वरज़ीयां होरही हैं जिन में मुख़्तलिफ़ इदारों की ज़मिनात ए पी सैंटर फ़ार इमरजंसी मेडि कीर ( ए पी सी ई एम) और दीगर को हवालगी शामिल हैं।

उन्हों ने कहा कि निज़ाम्स इंस्टीट्यूट आफ़ मैडीकल साइंसिस जिस जगह पर क़ायम हो वो रियासती हुकूमत को मख़सूस शराइत पर 99 बरस के लिए लीज़ पर हवाला की गई है। ताहम उन शराइत की बड़े पैमाना पर ख़िलाफ़वरज़ी की जा रही है और गरबा-ए-को तिब्बी इमदाद की फ़राहमी में मुनासिब तवज्जा देने में नाकाम होगया है।

दरख़ास्त गुज़ार ने ये इद्दिआ किया कि मुतअद्दिद कोशिशों के बावजूद हुकूमत मुसालहत कार के तक़र्रुर के लिए आमादा नहीं हुई है। याद रहे कि हुकूमत का ये इस्तिदलाल है कि किसी मुसालहत कार के तक़र्रुर की कमाहक़ा कोई ज़रूरत नहीं है चूँकि उस की दानिस्त में उन के दरमियान कोई इख़तिलाफ़ नहीं है। चीफ जस्टिस ने चार हफ़्तों के लिए मुक़द्दमा समाअत मुल्तवी करदी है।

Top Stories