Thursday , December 14 2017

दस खरब डॉलर की आलमी तिजारत के मुआहिदा को क़तईयत

आलमी तिजारती तंज़ीम के सरब्राह रबोर्टो उज़्वेदो के मुताबिक़ सन 1995 में तंज़ीम के क़ियाम के बाद ये पहला जामे मुआहिदा है आलमी तिजारती तंज़ीम डब्लयू टी ओ ने तिजारत को फ़रोग़ देने के लिए अपनी नौईयत का पहला आलमी मुआहिदा किया है। इंडोनेशिया के ज

आलमी तिजारती तंज़ीम के सरब्राह रबोर्टो उज़्वेदो के मुताबिक़ सन 1995 में तंज़ीम के क़ियाम के बाद ये पहला जामे मुआहिदा है आलमी तिजारती तंज़ीम डब्लयू टी ओ ने तिजारत को फ़रोग़ देने के लिए अपनी नौईयत का पहला आलमी मुआहिदा किया है। इंडोनेशिया के जज़ीरे बाली में होने वाले इस मुआहिदे के तहत माहिरीन के मुताबिक़ आलमी मईशत में दस खरब डॉलर तक इज़ाफ़ा मुम्किन हो सकेगा।

इस मुआहिदे के तहत तिजारत के तरीकेकार को सादा बनाया गया है जिस में ग़रीब ममालिक को अपना सामान फ़रोख़्त करने में आसानी होगी। बी बी सी के मआशी उमूर के नामा निगार एंड्रयू वॉकर के मुताबिक़ ये मुआहिदा डब्लयू टी ओ के लिए बहुत एहमीयत का हामिल था क्योंकि उसे नए तिजारती मुआहिदे करने में मुश्किलात का सामना था।

ताहम इस से पहले तरक़्क़ी के लिए काम करने कारकुनों ने मुआहिदे पर तन्क़ीद करते हुए कहा था कि ये ज़्यादा देर तक क़ायम नहीं रह सकेगा। हफ़्ता की सुबह 159 ममालिक के वुज़राए तिजारत के दरमयान तवील बात-चीत के बाद इस मुआहिदे पर इत्तिफ़ाक़ हुआ।

TOPPOPULARRECENT