Monday , December 11 2017

दहशतगर्दों के निशाने पर बोधगया, क़ौमी सेक्युर्टी गार्ड के 150 जवान पहुंचे

गया शहर वाकेय विष्णुपद मंदिर, एयरपोर्ट व अहम प्राइवेट स्कूलों और बोधगया वाकेय महाबोधि मंदिर, मगध यूनिवर्सिटी समेत कुछ अहम होटल दहशतगर्द के निशाने पर हैं। सात जुलाई, 2013 को बोधगया में महाबोधि मंदिर समेत कई बौद्ध मठों में हुए सीरिय

गया शहर वाकेय विष्णुपद मंदिर, एयरपोर्ट व अहम प्राइवेट स्कूलों और बोधगया वाकेय महाबोधि मंदिर, मगध यूनिवर्सिटी समेत कुछ अहम होटल दहशतगर्द के निशाने पर हैं। सात जुलाई, 2013 को बोधगया में महाबोधि मंदिर समेत कई बौद्ध मठों में हुए सीरियल बम ब्लास्ट के बाद कई बार मरकज़ी खुफिया एजेंसी ने हुकूमत को आगाह किया है।

इसे वजीरे दाख्ला ने संजीदगी से लिया और गया व बोधगया में दहशतगर्द हमले से निबटने के लिए कारगर कदम उठाये हैं। इसी मंसूबा के तहत दाखला वज़ीर की हिदायत पर इतवार को क़ौमी सेक्युर्टी गार्ड (एनएसजी) की 150 रुकनी टीम गया पहुंची है। टीम में शामिल अफसरों व जवानों ने बोधगया, मगध यूनिवर्सिटी समेत गया शहर वाकेय कई अदारों का जायजा लिया है. टीम 16, 17 व 18 फरवरी को मॉक ड्रिल करेगी।

एटीएस आइजी भी रहेंगे शामिल। बोधगया में दहशतगर्दी हमले के बाद बिहार हुकूमत की तरफ से तशकील किये गये एटीएस के आइजी कुंदन कृष्णन व एसपी समेत दीगर आला अफसर शामिल होंगे।

ये अफसर एनएसजी की टीम के साथ मॉक ड्रिल में शामिल होंगे। साथ ही, दहशतगर्द हमला होने पर उससे निबटने से मुतल्लिक़ उपायों के बारे में जानकारी लेंगे। मॉक ड्रिल में एनएसजी के कुछ जवानों को दहशतगर्दी के वेश में निशानदेही किये गये मुकामात में नकली बम और जदीद असलाह के साथ लैस किया जायेगा। साथ ही, इस मॉक ड्रिल के दौरान हर थाने की पुलिस व जिला इंतेजामिया के हर महकमा के अफसरों को आगाह किया गया है।

एनएसजी की टीम खुफिया तरीके से गया व बोधगया में किसी मुकाम पर मॉक ड्रिल करने के लिए दहशतगर्दी हमला करेगी और किसी दहशतगर्द हमला होने के बाद पैदा होनेवाले हालात व उससे निबटने के लिए अफसरों की क्या-क्या किरदार होगी? उससे जानकारी कराया जायेगा।

TOPPOPULARRECENT