Thursday , December 14 2017

दहशतगर्द इम्तियाज के खिलाफ चाजर्शीट

पटना सीरियल धमाके के मामले में नेशनल इनवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआइए) ने इंडियन मुजाहिद्दीन (आइएम) के दहशतगर्द इम्तियाज के खिलाफ 24 अप्रैल को चाजर्शीट दाखिल कर दिया।

पटना सीरियल धमाके के मामले में नेशनल इनवेस्टीगेशन एजेंसी (एनआइए) ने इंडियन मुजाहिद्दीन (आइएम) के दहशतगर्द इम्तियाज के खिलाफ 24 अप्रैल को चाजर्शीट दाखिल कर दिया।

इम्तियाज के खिलाफ पटना वाकेय एनआइए के स्पेशल अदालत में चाजर्शीट दाखिल किया गया है। गुजिशता 27 अक्तूबर 2013 को पटना में भाजपा लीडर नरेंद्र मोदी की रैली थी। उसी दिन पटना रेलवे स्टेशन और गांधी मैदान में दहशतगर्दों ने सीरियल बम धमाके किया था। ब्लास्ट के बाद पुलिस ने इम्तियाज को गिरफ्तार किया था। इसके बाद पता चला था कि इम्तियाज रांची के धुर्वा थाना इलाक़े के सीठियो गांव का रहनेवाला है। पुलिस ने सीठियो गांव में इम्तियाज के घर छापेमारी की थी। छापेमारी में पुलिस को उसके घर से कूकर बम मिला था। जानकारी के मुताबिक एनआइए ने इम्तियाज को दफा 302, 324, 326, 307, 121, 121ए, 120बी, 34, विस्फोटक कानून की दफा 3, 4 व 5, यूए एक्ट की दफा 16, 18, 20, रेलवे एक्ट की दफा 151, 153 और 17सीएलए एक्ट के तहत मुल्ज़िम बनाया है। कबीले ज़िक्र है कि इस वाकिया में शामिल रांची के दीगर मुल्ज़िम मुजिबुल्ला, हैदर, नुमान और तौफिक पर एनआइए ने पांच-पांच लाख रुपये इनाम की ऐलान की है।

भटकल, उज्जैर व मंजर पर भी चाजर्शीट

एनआइए ने इंडियन मुजाहिद्दीन सरबराह यासिन भटकल, उज्जैर अहमद, मंजर इमाम और असादुल्लाह अख्तर उर्फ हड्डी के खिलाफ चाजर्शीट दाखिल की है। कांड नंबर-आरसी-06/2012/ एनआइए/डीएलआइ में दिल्ली के पटियाला हाउस वाकेय एनआइए स्पेशल कोर्ट में चाजर्शीट दाखिल की है। इसमें यासिन भटकल को मुल्क भर में हुए कई सीरियल बम धमाके की वारदात में शामिल बताया गया है।

इन वारदात में 150 से ज़्यादा लोग मारे जा चुके हैं। भटकल और हड्डी को एनआइए ने 29 अगस्त 2013 को भारत-नेपाल सरहद पर बिहार के रक्सौल से गिरफ्तार किया था। दोनों पर 10-10 लाख रुपये का इनाम था। चाजर्शीट में दहशतगर्द उज्जैर अहमद और मंजर इमाम को दहशतगर्द वारदात को अंजाम देने के लिए साजिश रचने, आइएम तंजीम के लोगों को शरण देने और तंजीम के लिए रकम जुटाने का इल्ज़ाम है। उज्जैर अहमद डोरंडा थाना इलाक़े का और मंजर इमाम बरियातू थाना इलाक़े का रहनेवाला हैं। एनआइए की टीम ने मंजर इमाम को एक अक्तूबर 2013 को, जबकि उज्जैर को 30 अक्तूबर 2013 को गिरफ्तार किया था। चाजर्शीट में चारो दहशतगर्द पर जेहाद के नाम पर नौजवानों को तंजीम में शामिल करने, उन्हें तरबियत करने और उनसे मुल्क के मुखतलिफ़ हिस्सों में सीरियल बम ब्लास्ट कराने के लिए भी इल्ज़ाम आईद किया गया है। 2012 में दर्ज मामले में एनआइए ने दूसरा चाजर्शीट दाखिल किया है। इससे पहले दाखिल पहले चाजर्शीट (जुलाई 2013) में रांची के रहने वाले दानिश अंसारी, बिहार के रहने वाले आफताब आलम, महाराष्ट्र के रहने वाले इमरान खान, हैदराबाद के रहने वाले सैय्यद मकबूल और उबैद उर रहमान के खिलाफ चाजर्शीट दाखिल की जा चुकी है।

TOPPOPULARRECENT