Wednesday , December 13 2017

दहश्तगर्द सिंडीकेट के ख़िलाफ़ ठोस आलमी कार्रवाई ज़रूरी

हिंदूस्तान ने अफ़्ग़ान ख़ित्ता के दहश्तगर्द इनफ़रास्ट्रक्चर की बदस्तूर मौजूदगी को तशवीशनाक क़रार दिया है , जिसे उस की सरहदों के आगे से मदद हासिल होरही है , और ज़ोर दिया कि अलक़ायदा , तालिबान और लश्कर तैबा की सिंडीकेट को यक्का-ओ-तन

हिंदूस्तान ने अफ़्ग़ान ख़ित्ता के दहश्तगर्द इनफ़रास्ट्रक्चर की बदस्तूर मौजूदगी को तशवीशनाक क़रार दिया है , जिसे उस की सरहदों के आगे से मदद हासिल होरही है , और ज़ोर दिया कि अलक़ायदा , तालिबान और लश्कर तैबा की सिंडीकेट को यक्का-ओ-तन्हा करने और जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए ठोस आलमी कार्रवाई की ज़रूरत है ।

हिंदूस्तान के नायब मुस्तक़िल क़ासिद बराए अक़वाम-ए-मुत्तहिदा सफ़ीर मंजिवो सिंह पूरी ने कहा कि अफ़्ग़ानिस्तान को बदस्तूर दहश्तगर्दी के ख़तरा का सामना है जिस को सरहद पार से नज़रयाती , मालीयाती और साज़ो सामान की मदद हासिल होरही है ।

ये निशानदेही करते हुए कि अफ़्ग़ान नेशनल सिक्योरिटी फोर्सेस दहश्तगर्दी के चैलेंज से निमटने के लिए अच्छी तरह लैस नहीं है , पूरी ने कहा कि हमें दहश्तगर्दी की सिंडीकेट का सफ़ाया करने के लिए ठोस कार्रवाई दरकार है ।

उन्हों ने कहा कि इस सिंडीकेट में अलक़ायदा , तालिबान , लश्कर तैबा और दीगर दहश्तगर्द और इंतहापसंद ग्रुप शामिल हैं।

TOPPOPULARRECENT